फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ हरियाणारेलवे कर्मी ने बुजुर्ग मां की हत्या कर घर में लगाई आग, फिर खुद ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

रेलवे कर्मी ने बुजुर्ग मां की हत्या कर घर में लगाई आग, फिर खुद ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

हरियाणा के जींद में एक रेलवे कर्मी ने शनिवार तड़के बुजुर्ग मां की कथित रूप से हत्या कर मकान में आग लगा कर दी और और बाद में खुद भी ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। शहर थाना प्रभारी धर्मबीर ने...

रेलवे कर्मी ने बुजुर्ग मां की हत्या कर घर में लगाई आग, फिर खुद ट्रेन के आगे कूदकर दी जान
Praveen Sharmaजींद। भाषा Sat, 13 Nov 2021 05:45 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

हरियाणा के जींद में एक रेलवे कर्मी ने शनिवार तड़के बुजुर्ग मां की कथित रूप से हत्या कर मकान में आग लगा कर दी और और बाद में खुद भी ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली।

शहर थाना प्रभारी धर्मबीर ने बताया कि रेलवे कर्मी बेटे ने तेजधार हथियार से वार कर अपनी मां की हत्या कर दी और वह फिर मकान में आग लगा कर फरार हो गया।

रेलवे चौकी प्रभारी चरण सिंह ने बताया कि सुबह गांव मोहलखेड़ा के निकट एक युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली, वह रेलवे डी ग्रुप में कार्यरत था। उस पर अपनी मां की हत्या का आरोप है। दोनों शवों का पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है। रेलवे पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार, रेलवे कॉलोनी के निवासी अजय (32) ने शनिवार सुबह अपने क्वार्टर में बुजुर्ग मां माया देवी (65) की कुल्हाड़ी से काटकर निर्मम हत्या कर दी और फिर मकान में आग लगाकर वह फरार हो गया। मकान से उठती आग की लपटों को देख पड़ोसियों ने घटना की सूचना फायर ब्रिगेड को दी।

पुलिस के मुताबिक, आग बुझाने के क्रम में माया देवी की हत्या का खुलासा हुआ तो शहर थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। इसके बाद पता चला कि मौके से फरार अजय ने जयपुर से चंडीगढ़ जा रही रेलगाड़ी के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली।

बताया जाता है कि पिछले करीब दो महीने से अजय बीमार एवं मानसिक रूप से परेशान चल रहा था। वह अपनी ड्यूटी पर भी नहीं जा रहा था और अपने छोटे भाई विजय एवं मां माया के साथ रेलवे कॉलोनी में ही रह रहा था। दोनों भाइयों का ही अपनी-अपनी पत्नियों से विवाद चल रहा था।अजय रेलवे में ही डी ग्रुप में प्वायंटमैन के पद पर रेलवे स्टेशन नरवाना में नौकरी करता था।