फोटो गैलरी

Hindi News हरियाणामैंने ही मरवाया नफे सिंह को; लंदन में बैठे गैंगस्टर ने ली जिम्मेदारी, क्या बताई वजह

मैंने ही मरवाया नफे सिंह को; लंदन में बैठे गैंगस्टर ने ली जिम्मेदारी, क्या बताई वजह

Nafe Singh Murder: इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) नेता नफे सिंह हत्याकांड की जिम्मेदारी लंदन में बैठे गैंगस्टर कपिल सांगवान ने ली है। सोशल मीडिया पर सांगवान ने कहा है कि उसने ही नफे सिंह को मरवाया है।

मैंने ही मरवाया नफे सिंह को; लंदन में बैठे गैंगस्टर ने ली जिम्मेदारी, क्या बताई वजह
Sudhir Jhaराजन शर्मा,नई दिल्लीThu, 29 Feb 2024 08:56 AM
ऐप पर पढ़ें

इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) नेता नफे सिंह हत्याकांड की जिम्मेदारी लंदन में बैठे गैंगस्टर कपिल सांगवान ने ली है। सोशल मीडिया पर सांगवान ने कहा है कि उसने ही नफे सिंह को मरवाया है। पुलिस सोशल मीडिया पोस्ट की जांच कर रही है। कपिल ने कहा की नफे सिंह की गैंगस्टर मंजीत महल से गहरी दोस्ती थी। नफे सिंह मनजीत महल के भाई संजय के साथ प्रॉपर्टी कब्जा करने का काम करता था। जो मेरे दुश्मन से हाथ मिलाएगा उसका अंजाम यही होगा।

सांगवान ने नफे सिंह पर अपने जीजा और दोस्तों की हत्या में शामिल होने का आरोप लगाते हुए कहा, 'मेरे जीजा और दोस्तों के मर्डर में इसने महल को सपोर्ट किया था। इनकी दोस्ती का मैं साथ में फोटो डाल रहा हूं। जो मेरे दुश्मनों को सपोर्ट करेगा मैं उसके दुश्मनों को सपोर्ट करूंगा। और पूरी 50 गोलियां उसका इंतजार करेंगी। नफे सिंह ने पावर में रहकर जितने लोगों की जमीन कब्जा की और हत्या की पूरे बहादुरगढ़ को पता है। लेकिन कोई कुछ नहीं भूल पाया इसकी पावर की वजह से। अगर पुलिस मेरे जीजा और मेरे दोस्तों के मर्डर पर इतनी एक्टिव होती तो मुझे ये करने की जरूरत नहीं होती।

नफे सिंह राठी और इनेलो के एक कार्यकर्ता की रविवार को दिल्ली के पास बहादुरगढ़ में अज्ञात हमलावरों ने उनके वाहन पर अंधाधुंध गोलीबारी करके हत्या की थी। इनेलो की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष नफे सिंह राठी और एक कार्यकर्ता की हत्या करने के मामले में तीन और लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।  राठी हत्याकांड में अबतक कुल 15 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इनेलो नेता के बेटे जितेंद्र राठी के बयान के आधार पर विजेंद्र राठी, संदीप राठी और पाले राम के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

आगामी लोकसभा चुनाव से दो महीने से भी कम समय पहले हुए इस हत्याकांड पर भाजपा शासित राज्य में विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। सोमवार को दर्ज की गई प्राथमिकी में पुलिस ने पूर्व भाजपा विधायक नरेश कौशिक, कर्मबीर राठी, रमेश राठी, सतीश राठी, गौरव राठी, राहुल और कमल को नामजद किया है। रिपोर्ट में अन्य पांच अज्ञात आरोपियों का भी जिक्र किया गया है। मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और शस्त्र अधिनियम सहित विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज किया गया है। पुलिस को दी गई शिकायत में नफे सिंह राठी के भतीजे राकेश ने बताया कि पांच अज्ञात हत्यारे उनकी कार का पीछा कर रहे थे। इसी दौरान बराही रेलवे क्रॉसिंग के पास वे कार से बाहर आए और उनपर अंधाधुंध गोलीबारी कर हत्या कर दी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें