DA Image
हिंदी न्यूज़ › हरियाणा › किसानों के हिंसक प्रदर्शन के बाद हरियाणा में हाई अलर्ट, आज शाम 5 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद
हरियाणा

किसानों के हिंसक प्रदर्शन के बाद हरियाणा में हाई अलर्ट, आज शाम 5 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद

एजेंसी, चंडीगढ़,Published By: Shivendra Singh
Wed, 27 Jan 2021 07:07 AM
किसानों के हिंसक प्रदर्शन के बाद हरियाणा में हाई अलर्ट, आज शाम 5 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद

दिल्ली में किसानों का प्रदर्शन हिंसक होने के बाद हरियाणा में मंगलवार को हाई अलर्ट जारी कर दिया गया और राज्य के तीन जिलों सोनीपत, झज्जर और पलवल में बुधवार शाम पांच बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई। हरियाणा सरकार ने यह घोषणा की। दिल्ली के घटनाक्रम के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपनी कैबिनेट की एक विशेष बैठक की और सभी किसानों से अपने घर लौटने की अपील की।

खट्टर ने कहा कि समय की जरूरत है कि सब मिलकर असामाजिक तत्वों के षड्यंत्रों को परास्त करें। उन्होंने मुख्य सचिव वी वर्धन, गृह सचिव राजीव अरोड़ा और पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मनोज यादव सहित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ यहां शाम में एक उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता की।

डीजीपी ने कहा कि दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान कई इलाकों में हुई हिंसक घटनाओं के मद्देनजर राज्य में हाई अलर्ट कर दिया गया है। उन्होंने सभी जिला पुलिस प्रमुखों को बेहद सतर्क रहने का निर्देश दिया। दिल्ली में घटना के मद्देनजर दिल्ली के लिए हरियाणा रोडवेज की बस सेवाएं भी प्रभावित हुईं, परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वे स्थिति का आकलन कर रहे हैं।

गृह सचिव राजीव अरोड़ा ने कहा कि तीन जिलों- पलवल, सोनीपत और झज्जर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने का आदेश शांति और लोक-व्यवस्था की किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने के लिए जारी किया गया है। यह आदेश 27 जनवरी की शाम पांच बजे तक लागू रहेगा।

आदेश में कहा गया कि यह इसलिए दिया गया है ताकि विभिन्न सोशल मीडिया मंचों से कोई गलत सूचना न फैलायी जा सके। हरियाणा के ये तीन जिले राष्ट्रीय राजधानी के पास स्थित हैं। एक आधिकारिक बयान के अनुसार मुख्यमंत्री ने बाद में सभी उपायुक्तों, पुलिस आयुक्तों, पुलिस अधीक्षकों को हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि राज्य में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति नहीं बिगड़े। खट्टर ने इससे पहले दिल्ली के लाल किले पर किसानों द्वारा एक झंडा लगाए जाने की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था।

संबंधित खबरें