फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News हरियाणाकरनाल में बवाल के बाद CM खट्टर का महापंचायत रद्द, पुलिस ने किसानों पर किया लाठीचार्ज, आंसू गैसे के गोले भी छोड़े

करनाल में बवाल के बाद CM खट्टर का महापंचायत रद्द, पुलिस ने किसानों पर किया लाठीचार्ज, आंसू गैसे के गोले भी छोड़े

हरियाणा के करनाल में प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच भिड़ंत के बीच मचे बवाल के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का किसान महापंचायत कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। करनाल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल...

CM's Kisan Mahapanchayat has been cancelled
1/ 2CM's Kisan Mahapanchayat has been cancelled
Haryana Police use water cannon teargas shells to stop farmers march to Karnal
2/ 2Haryana Police use water cannon teargas shells to stop farmers march to Karnal
पीटीआई,करनालSun, 10 Jan 2021 04:18 PM
ऐप पर पढ़ें

हरियाणा के करनाल में प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच भिड़ंत के बीच मचे बवाल के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का किसान महापंचायत कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। करनाल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के कार्यक्रम का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था, वाटर कैनन का इस्तेमाल किया था। इतना ही नहीं, प्रदर्शनकारी किसानों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े हैं। मुख्यमंत्री के जहां लैंड करने वाले थे, उसके हेलीपैड को नुकसान पहुंचाया गया, कार्यक्रम स्थल पर तोड़फोड़ की भी सूचना है। 

दरअसल, करनाल जिले के कैमला गांव में मनोहर लाल खट्टर किसान महापंचायत को संबोधित करने वाले थे, जहां कृषि कानूनों का फायदा बताने के लिए भाजपा ने आयोजित करवाया था, उसके विरोध के लिए किसान गांव की ओर कूच कर रहे थे, तभी पुलिस ने यह कार्रवाई की। मुख्यमंत्री के दौरे से पहले ही प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस में भिड़ंत हो गई। 

इतना ही नहीं, कृषि कानूनों के समर्थक किसान और प्रदर्शनकारी किसान भी भिड़ गए। मुख्यमंत्री के दौरे के लिए पुलिस ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए थे, जहां वह किसानों से कृषि कानूनों के फायदे के ऊपर बात करने वाले थे।

हालांकि, प्रदर्शनकारी किसानों ने पहले ही 'किसान महापंचायत' का विरोध करने की घोषणा की थी। कैमला गांव की ओर मार्च करने के दौरान किसान भाजपा की अगुवाई वाली सरकार के खिलाफ काले झंडे लेकर नारेबाजी कर रहे थे। किसानों को कार्यक्रम स्थल तक पहुंचने से रोकने के लिए पुलिस ने गांव के प्रवेश बिंदुओं पर बैरिकेड्स लगा दिए हैं।