फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ हरियाणाग्रामीणों ने अधिकारियों से बंदूक की नोक पर रात भर बनवाई जर्जर सड़क, 30 गिरफ्तार

ग्रामीणों ने अधिकारियों से बंदूक की नोक पर रात भर बनवाई जर्जर सड़क, 30 गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार किए गए लोगों में एक स्थानीय निवासी होशियार सिंह ने जर्जर सड़क को लेकर हंगामा शुरू किया था। वह चाहता था कि उसके पेट्रोल पंप के सामने सड़क का एक पैच बनाया जाए।

ग्रामीणों ने अधिकारियों से बंदूक की नोक पर रात भर बनवाई जर्जर सड़क, 30 गिरफ्तार
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,गुरुग्रामThu, 22 Sep 2022 08:25 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम से एक बेहद अजीब मामला सामने आया है जहां गांव वालों ने कथित तौर पर अधिकारियों को बंधक बनाकर रात भर सड़क बनवाई। मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी के अधिकारियों को कथित तौर पर एक जीर्ण-शीर्ण सड़क के निर्माण के लिए स्थानीय लोगों द्वारा बंदूक की नोक पर बंधक बना लिया गया था। पुलिस ने मंगलवार को गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी (जीएमडीए) के अधिकारियों को धमकाने और बंदूक की नोक पर लात भर सड़क बनवाने के आरोप में ब्लॉक समिति के एक पूर्व अध्यक्ष सहित नौरंगपुर गांव के 30 निवासियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। 

पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार किए गए लोगों में एक स्थानीय निवासी होशियार सिंह ने जर्जर सड़क को लेकर हंगामा शुरू किया था। वह चाहता था कि उसके पेट्रोल पंप के सामने सड़क का एक पैच बनाया जाए। हालांकि, उन्होंने पुलिस के दावे का खंडन करते हुए कहा कि सभी ग्रामीण चाहते हैं कि सड़क का निर्माण किया जाए क्योंकि पिछले कुछ महीनों में 20 से अधिक दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि वे पिछले काफी समय से अधिकारियों से सड़क निर्माण का अनुरोध कर चुके हैं लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी।

जीएमडीए के एक अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार मंगलवार को टीम सेक्टर 78/79 में सड़क निर्माण का कार्य कर रही थी। शिकायतकर्ता ने नाम न छापने का अनुरोध करते हुए कहा, “एक निजी ठेकेदार, जीएमडीए की एक टीम और कार्यकर्ता साइट पर थे तभी कम से कम 30 ग्रामीण आए और स्टाफ सदस्यों को गाली देना शुरू कर दिया। उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की और टीम को बंदूक की नोक पर पकड़ लिया। उन्होंने तीन मशीनें और कंस्ट्रक्शन मटेरियल ले लिया और उन्हें टौरू रोड पर एक पेट्रोल पंप के सामने 50 मीटर की सड़क बिछाने के लिए मजबूर किया।”

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि संदिग्धों ने हथियारों और लाठियों से लैस होकर टीम के साथ मारपीट की। उन्होंने कहा, “टेंडर पहले ही दिया जा जा चुका था और एक निजी ठेकेदार काम पूरा कर रहा था। लेकिन बदमाशों ने मौके का दौरा किया और जबरदस्ती उन्हें दूसरी जगह ले गए जो टेंडर में नहीं थी और वहां सड़क का निर्माण करा दिया।" जीएमडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जब मामला उनके संज्ञान में आया तो उन्होंने त्वरित कार्रवाई की और ग्रामीणों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने सख्त कार्रवाई शुरू कर दी है।

epaper