फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News गुजरातजहां वोट नहीं, वहां विकास नहीं; जनता से बदला लेने पर उतारू ये बीजेपी नेता

जहां वोट नहीं, वहां विकास नहीं; जनता से बदला लेने पर उतारू ये बीजेपी नेता

गुजरात में वडोदरा के जिला इकाई के बीजेपी अध्यक्ष विजय शाह ने कहा कि जिन बूथों पर बीजेपी को अच्छे वोट नहीं मिले हैं उस इलाके में फंड ना खर्च किया जाए और अन्य जगहों पर फोकस किया जाए।

जहां वोट नहीं, वहां विकास नहीं; जनता से बदला लेने पर उतारू ये बीजेपी नेता
bjp supporters
Ankit Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,गांधीनगरFri, 21 Jun 2024 10:05 AM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात में इस लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 26 में से 25 सीटों पर जीत हासिल की है। इसके बावजूद कुछ बीजेपी नेता जनता से बदला लेने का ऐलान कर रहे हैं। वडोदरा में बीजेपी जिला इकाई के अध्यक्ष ने हाल ही में कहा था कि उस इलाके को फंड ना दिया जाए जहां बीजेपी को अच्छे वोट नहीं मिले हैं। वहीं जूनागढ़ में नवनिर्वाचित सांसद राजेश चुडासमा ने उनके सुर में सुर मिलाते हुए कहा है कि जिन लोगों ने भी उनके रास्ते में बाधा डाली है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। 

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक जूनागढ़ में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जुडासमा ने कहा, मेरे खिलाफ काम करने वाले किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। पार्टी कोई कार्रवाई करे या ना करे लेकिन चुनाव के दौरान बाधा पहुंचाने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। बता दें कि चुडासमा 2014 में पहली बार जूनागढ़ से सांसद चुने गए। इसके बाद 2019 और 2024 में भी उन्होंने जीत हासिल की। वहीं बीते सप्ताह वडोदरा के बीजेपी जिला अध्यक्ष विजय शाह ने कहा था कि जिन बूथों पर बीजेपी को लगातार कम वोट मिल रहे हैं। उन इलाकों में विकास के बजट को नहीं खर्च किया जाएगा। 

उन्होंने कहा, जहां लोग भाजपा को वोट देते हैं, उन इलाकों पर फोकस किया जाएगा। बता दें कि शाह के इस बयान की आलोचना कई बीजेपी नेताओं ने भी की। वहीं कांग्रेस ने भी इस मामले को लेकर बीजेपी को घेरा है। वडोदरा में मंजालपुर से विधायक और सीनियर बीजेपी नेता योगेश पटेल ने कहा कि ये शाह के व्यक्तिगत विचार हैं। पार्टी का इससे कोई लेना-देना नहीं है। बीजेपी प्रवक्ता यामल व्यास ने कहा कि हो सकता है कि विजय शाह की जुबान फिसल गई हो लेकिन विकास के कार्य में बीजीपे कभी भेदभाव नहीं करती। 

उन्होंने कहा, शिक्षा, स्वास्थ्य, जल, घर और सभी जनहित की योजनाएं बिना भेदभाव के लोगों तक पहुंचाई जाती हैं। बता दें कि दो सप्ताह पहले गुजरात बीजेपी के संगठन सचिव रत्नाकर ने भी सोशल मीडिया पर इसी तरह की बात कही थी। उन्होंने बीजेपी को वोट ना देने वालों की तुलना कुत्तों से की थी। रत्नाकर ने एक तस्वीर पोस्ट करते हुए कहा था कि आपके प्रयास कितने भी नेक इरादे वाले क्यों ना हों, कुछ लोगों को इसकी चिंता ही नहीं है। इस तस्वीर को देखकर लगता है कि कुत्तों का विकास से कोई लेना-देना नहीं है।