फोटो गैलरी

Hindi News गुजरातसरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम के अपग्रेडेशन की योजना, 180 करोड़ होंगे खर्च

सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम के अपग्रेडेशन की योजना, 180 करोड़ होंगे खर्च

अहमदाबाद नगर निगम सरदार वल्लभभाई पटेल क्रिकेट स्टेडियम के अपग्रेडेशन पर विचार कर रहा है। उद्देश्य स्टेडियम को बहु-खेल सुविधा में बदलते हुए 2036 में ओलंपिक की मेजबानी स्थल के रूप में तैयार करना है।

सरदार वल्लभभाई पटेल स्टेडियम के अपग्रेडेशन की योजना, 180 करोड़ होंगे खर्च
Krishna Singhमौलिक पाठक,अहमदाबादMon, 11 Dec 2023 12:17 AM
ऐप पर पढ़ें

अहमदाबाद नगर निगम 180 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर सरदार वल्लभभाई पटेल (एसवीपी) क्रिकेट स्टेडियम के अपग्रेडेशन पर विचार कर रहा है। प्रसिद्ध वास्तुकार चार्ल्स कोरिया द्वारा डिजाइन किए गए इस स्टेडियम में 1981 में भारत में पहला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच देखा गया था। इसका उद्देश्य स्टेडियम को बहु-खेल सुविधा (Multi Sport Facility) में बदलते हुए 2036 में ओलंपिक की मेजबानी स्थल के रूप में तैयार करना है। भारत 2036 में ओलंपिक की मेजबानी के लिए उत्सुक है।

विशेषज्ञों का भी मानना है कि स्टेडियम को विरासत के लिहाज से संरक्षित किया जाना चाहिए। स्टेडियम के ऐतिहासिक महत्व के बावजूद, अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) के अधिकारियों का मानना है कि स्टेडियम कई वर्षों से कम उपयोग में है जिसके अपग्रेडेशन के प्रयास सफल नहीं हुए हैं। अंतिम निर्णय निगम की स्थायी समिति के समक्ष लंबित है। 

परियोजना में शामिल एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने कहा- हम रोम में कोलोसियम जैसी संरचना का जोखिम नहीं उठा सकते। इस तरह की बड़ी संरचना को बनाए रखने में भारी रखरखाव लागत शामिल होती है। स्टेडियम खेल उद्देश्यों के लिए था और यदि यह इस उद्देश्य को पूरी तरह से पूरा नहीं करता है, तो हमारे पास इसके पुनर्विकास पर विचार करने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है। यह कोई राष्ट्रीय धरोहर नहीं है। अगले कुछ महीनों में एएमसी की स्थायी समिति की बैठक में इस पर निर्णय लिया जाएगा।

अधिकारी ने कहा- निगम ने स्टेडियम के संरक्षण प्रबंधन योजना में शामिल विशेषज्ञों से अगले कुछ हफ्तों में अपने निष्कर्ष देने को कहा है। इसके आधार पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। इसे मूल रूप से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के लिए बनाया गया था, लेकिन बाद में 1982 में मोटेरा में एक नजदीकी स्टेडियम के निर्माण के बाद यह घरेलू क्रिकेट सीजन के लिए काम में लाया जाने लगा। सरदार वल्लभभाई पटेल क्रिकेट स्टेडियम अहमदाबाद के नवरंगपुरा क्षेत्र में स्थित है और मोटेरा में नरेंद्र मोदी स्टेडियम से लगभग 10 किमी दूर है।

दशकों तक भारतीय वास्तुकला का अध्ययन करने वाले प्रसिद्ध ब्रिटिश वास्तुशिल्प इतिहासकार विलियम जेआर कर्टिस ने कहा- आसमान से सरदार वल्लभभाई पटेल (एसवीपी) क्रिकेट स्टेडियम एक पहिये जैसा दिखता है जो राष्ट्रीय ध्वज के केंद्र से भिन्न नहीं है। यह स्टेडियम भारत में अपनी तरह का पहला स्टेडियम था जिसने जल्द स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खेलों के आयोजन के लिए अपनी जगह बना ली। यह स्टेडियम बीसवीं सदी की एक प्रतिष्ठित आधुनिक संरचना है। साल 2020 में इसे विश्व स्मारक कोष की निगरानी सूची में शामिल किया गया था। 

विश्व स्मारक कोष (डब्ल्यूएमएफ) के अनुसार, बड़ी संख्या में लोगों द्वारा प्रतिदिन उपयोग किए जाने के बावजूद, दशकों के अपर्याप्त रखरखाव और अपर्याप्त धन के कारण स्टेडियम में काफी भौतिक गिरावट आई है। इसे सांस्कृतिक विरासत स्थल के रूप में नामित करने से इसके संरक्षण की गारंटी होगी और संभावित नुकसान का जोखिम कम होगा। जुलाई 2020 में, गेटी फाउंडेशन ने घोषणा की कि स्टेडियम बीसवीं सदी की 13 महत्वपूर्ण इमारतों में से एक है। इसे कीपिंग इट मॉडर्न अनुदान में कुल 2.2 मिलियन डॉलर प्राप्त होंगे। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें