फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News गुजरातRajkot Gaming Zone Fire: 'शादी' का जश्न मनाने गेमिंग जोन पहुंचा था नवविवाहित जोड़ा, अग्निकांड ने छीनी सांसें और साथ जीने का अरमान

Rajkot Gaming Zone Fire: 'शादी' का जश्न मनाने गेमिंग जोन पहुंचा था नवविवाहित जोड़ा, अग्निकांड ने छीनी सांसें और साथ जीने का अरमान

Rajkot Gaming Zone Fire: गुजरात के राजकोट के गेमिंग जोन में लगी आग में अबतक 27 लोगों के मरने की पुष्टि हो गई है। इनमें एक नवविवाहित जोड़ा भी शामिल था जो सेलिब्रेशन के लिए पहुंचा था।

Rajkot Gaming Zone Fire: 'शादी' का जश्न मनाने गेमिंग जोन पहुंचा था नवविवाहित जोड़ा, अग्निकांड ने छीनी सांसें और साथ जीने का अरमान
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,राजकोटTue, 28 May 2024 09:22 AM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात के राजकोट में टीआरपी गेमिंग जोन में लगी आग ने पूरे देश को झकझोर दिया है। अबतक इस दर्दनाक हादसे में करीब 27 लोगों को मौत हो चुकी है। जिसमें बच्चों से लेकर जवान शामिल हैं। इस अग्निकांड में एक नवविवाहित जोड़े की भी मौत हो गई। दोनों ने एक-दूसरे का साथ देने की कसमें खाई थीं और कई सपने सजाए थे लेकिन इससे पहले की वो उन सपनों को जी पाते, गेमिंग जोन में लगी आग ने उनकी सांसे ही छीन ली। कपल की एक रिश्तेदार की भी आग के कारण मौत हो गई।

दिसंबर में धूमधाम से होनी थी शादी

दरअसल, कनाडा में पढ़ाई कर रहे अक्षय ढोलारिया और उनकी पत्नी ख्याति स्वालिविया शनिवार शाम ख्याति की बहन हरिता के साथ राजकोट के टीआरपी गेमिंग जोन में अपनी कोर्ट मैरिज का जश्न मना रहे थे। इसी दौरान वे भीषण आग की चपेट में आ गए। अक्षय के परिवार के सदस्यों के अनुसार, इस साल दिसंबर में हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार दोनों की एक भव्य शादी होनी तय थी, लेकिन उससे पहले ही दोनों काल के गाल में समा गए।

घटना के बाद अमेरिका में रहने वाले अक्षय के माता-पिता राजकोट के लिए रवाना हो गए हैं। पुलिस ने मृतक की पहचान को कंफर्म करने के लिए उसके माता-पिता से डीएनए सैंपल मांगे हैं। बता दें कि शनिवार को राजकोट के एक गेमिंग जोन में भीषण आग लग गई थी, जिसमें 12 साल से कम उम्र के चार बच्चों सहित कम से कम 27 लोगों की जान चली गई। अधिकारियों के मुताबिक मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ सकती है।

मालिक-मैनेजर गिरफ्तार

घटना के बाद, पुलिस ने टीआरपी गेम जोन के मालिक और मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं राज्य सरकार ने घटना की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है। असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर राधिका भराई ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'अब तक हमने आग की घटना में 27 लोगों की मौत की पुष्टि की है। बुरी तरह झुलसने की वजह से शवों की पहचान करना मुश्किल हो रहा है।'

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री ने घटना पर दुख जताया

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने घटना पर दुख व्यक्त किया। एक्स पर मुर्मु ने कहा कि राजकोट में हादसे में लोगों की मौत के बारे में जानकर मुझे गहरा दुख हुआ है। मेरी संवेदना उन परिवारों के प्रति है, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्स पर पोस्ट कर कहा कि राजकोट में आग लगने की घटना से बेहद व्यथित हूं। मेरी संवेदनाएं उन सभी लोगों के साथ है, जिन्होंने इस दर्दनाक हादसे में अपने प्रियजनों को खो दिया है। सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना करता हूं।