फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News गुजरातगुजरात में पकड़ाए IS आतंकियों ने उगला राज, बोले- पाकिस्तानी हैंडलर बताने वाला था वक्त और जगह

गुजरात में पकड़ाए IS आतंकियों ने उगला राज, बोले- पाकिस्तानी हैंडलर बताने वाला था वक्त और जगह

इससे पहले रविवार रात को सरदार वल्लभाई पटेल हवाई अड्डे पर गुजरात पुलिस एटीएस ने प्रतिबंधित संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से संबंध रखने के आरोप में चार श्रीलंकाई नागरिकों को गिरफ्तार किया था।

गुजरात में पकड़ाए IS आतंकियों ने उगला राज, बोले- पाकिस्तानी हैंडलर बताने वाला था वक्त और जगह
Sourabh JainPTI,अहमदाबादTue, 21 May 2024 11:49 PM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात के अहमदाबाद से गिरफ्तार किए गए चार संदिग्ध आतंकवादियों ने जांचकर्ताओं को बताया है कि उनका पाकिस्तान बेस्ड हैंडलर अहमदाबाद में उनके लिए गिराए गए हथियारों को इकट्ठा करने के बाद हमले को अंजाम देने के लिए उन्हें सटीक स्थान और समय बताने वाला था। हालांकि जांचकर्ता ATS के मुताबिक उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया है कि वे वास्तव में कहां आतंकवादी हमले को अंजाम देने की योजना बना रहे थे।

ATS के पुलिस अधीक्षक (एसपी) सुनील जोशी ने मीडियाकर्मियों को बताया, 'अब तक हुई पूछताछ में कथित आतंकियों ने यह बताने से इनकार कर दिया है कि वे वास्तव में कहां आतंकवादी हमले को अंजाम देने की योजना बना रहे थे।' उन्होंने अब तक केवल इतना ही बताया है कि उनका हैंडलर हथियार इकट्ठा करने के बाद उन्हें लक्ष्य के सटीक स्थान और समय के बारे में सूचित करने वाला था।

ATS SP जोशी ने कहा कि जांच एजेंसी उन लोगों के बारे में भी पता लगाने की कोशिश कर रही है जो भारत में उनकी साजिश को पूरा करने में उनकी मदद करने वाले थे। जोशी ने कहा, 'उनके फोन के डेटा का फोरेंसिक निष्कर्षण चल रहा है। साथ ही उनके मोबाइल फोन में पाई गई उस कम्युनिकेशन एप्लिकेशन्स का विवरण भी मांगा गया है, जिसके माध्यम से वे अपने पाकिस्तानी हैंडलर के संपर्क में रहे।'

उन्होंने कहा कि उनके मोबाइल फोन के ड्रॉप प्वाइंट का भी तकनीकी रूप से विश्लेषण किया जा रहा है साथ ही यह पता लगाने की कोशिश भी की जा रही है कि क्या उनकी साजिश को पूरा करने में और लोग भी उनकी मदद करने वाले थे। जोशी ने कहा कि चूंकि आरोपी व्यक्ति दूसरे देश से हैं और तमिलनाडु के रास्ते अहमदाबाद पहुंचे हैं, इसलिए अन्य राज्यों की पुलिस और केंद्रीय जांच व खुफिया एजेंसियां भी जांच में शामिल हो गई हैं।

आतंकवादियों को फिलहाल 14 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा गया है और ATS अधिकारियों द्वारा उनकी योजनाओं के बारे में उनसे पूछताछ की जा रही है। इससे पहले गुजरात ATS (आतंकवाद निरोधी दस्ते) ने रविवार रात अहमदाबाद हवाई अड्डे से 4 श्रीलंकाई नागरिकों को गिरफ्तार किया था, जब वे अपने पाकिस्तान स्थित हैंडलर के निर्देश पर इस्लामिक स्टेट के इशारे पर आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए यहां उतरे थे।

ATS ने उनके कब्जे से जब्त किए गए मोबाइल फोन में मिली जानकारी और तस्वीरों के आधार पर अहमदाबाद में एक स्थान पर छोड़ी गई तीन पाकिस्तान निर्मित पिस्तौल और 20 कारतूस भी बरामद किए थे। सोमवार को पत्रकारों से बात करते हुए पुलिस महानिदेशक विकास सहाय ने कहा था कि ये लोग इस्लामिक स्टेट के इशारे पर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए भारत आए थे।

आरोपियों की पहचान मोहम्मद नुसरत (35), मोहम्मद फारुख (35), मोहम्मद नफ्रान (27) और मोहम्मद रसदीन (43) के रूप में हुई है, जो कोलंबो से उड़ान लेकर रविवार सुबह चेन्नई पहुंचे थे और फिर उन्होंने अहमदाबाद के लिए दूसरी फ्लाइट ली थी, जिससे वे उसी रात को करीब 8 बजे के आसपास अहमदाबाद पहुंचे थे। 

DGP सहाय के अनुसार, ऐसा शक है कि इन लोगों को कथित तौर पर इनके पाकिस्तानी हैंडलर ने इन हथियारों को इकट्ठा करने के लिए निर्देशित किया था। इन लोगों ने जांचकर्ताओं को बताया कि वे पहले प्रतिबंधित श्रीलंकाई कट्टरपंथी आतंकवादी संगठन, नेशनल तौहीद जमात (NJT) से जुड़े हुए थे, और पाकिस्तानी हैंडलर अबू बक्र अल बगदादी के संपर्क में आने के बाद आईएस में शामिल हो गए। इन आरोपियों पर गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA), भारतीय दंड संहिता (IPC) और शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।