फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News गुजरातखुद को हिन्दू बता सूरत में काम करता रहा बांग्लादेशी, बंगाल के मदरसे से जुड़े तार

खुद को हिन्दू बता सूरत में काम करता रहा बांग्लादेशी, बंगाल के मदरसे से जुड़े तार

पुलिस जांच में सामने आया है कि यह शख्स साल 2020 में बांग्लादेश से भारत आया था। इसका असली नाम मिनार हेमायत सरदार है। भारत आने के बाद इसने अपना नाम सुनिल दास रख लिया।

खुद को हिन्दू बता सूरत में काम करता रहा बांग्लादेशी, बंगाल के मदरसे से जुड़े तार
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,सूरतSun, 23 Jun 2024 04:17 PM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात की सूरत पुलिस ने एक बांग्लादेशी मुस्लिम शख्स को गिरफ्तार किया है। यह शख्स अपनी पहचान छिपाकर हिंदू नाम के साथ रहता था। इसके लिए  उसने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया था। इन सभी फर्जी दस्तावेजों को पुलिस ने बरामद कर लिया है। इनमें भारतीया पासपोर्ट, आधार कार्ड, पश्चिम बंगाल का स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट और बांग्लादेशी आईडी शामिल है। 

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस जांच में सामने आया है कि यह शख्स साल 2020 में बांग्लादेश से भारत आया था। इसका असली नाम मिनार हेमायत सरदार है। भारत आने के बाद इसने अपना नाम सुनिल दास रख लिया और कुछ फर्जी दस्तावेज भी बना लिए। यह सभी दस्तावेज पश्चिम बंगाल में बनाए गए थे। 
 

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने भी इस बारे में जानकारी देते हुए ट्वीट किया। उन्होंने कहा, एक मुस्लिम बांग्लादेशी ने पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा सहायता प्राप्त मदरसे द्वारा प्रदान किए गए फर्जी प्रमाणपत्र की मदद से अपने दस्तावेजों को हिंदू नाम से बदल लिया है। यह एक बड़ी सुरक्षा चिंता का विषय है।

जानकारी के मुताबिक मिनार साल 2021 में फेक पासपोर्ट का इस्तेमाल कर कतर के दोहा गया। वहां उसने साल 2023 तक मजदूर के रूप में काम किया। इसके बाद सूरत आया और फिर यहां भी मजदूरी करने लगा। पुलिस को जैसे ही मामले की सूचना मिली, उसने तुरंत मिनार को गिरफ्तार कर लियाष मिनार ने भी अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है। 

Advertisement