फोटो गैलरी

Hindi News गुजरातआवारा कुत्ते की वजह से हुई पत्नी की मौत, पति ने खुद के खिलाफ ही क्यों दर्ज करा दी FIR?

आवारा कुत्ते की वजह से हुई पत्नी की मौत, पति ने खुद के खिलाफ ही क्यों दर्ज करा दी FIR?

शख्स ने अपनी एफआईआर में कहा है कि उस की वजह से ही पत्नी की मौत हुई है। हादसे के वक्त वो भी अपनी पत्नी के साथ मौजुूद था। लेकिन सवाल ये है कि उसने अपने खिलाफ ही एफआईआर दर्ज क्यों करा दी।

आवारा कुत्ते की वजह से हुई पत्नी की मौत, पति ने खुद के खिलाफ ही क्यों दर्ज करा दी FIR?
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नर्मदाTue, 06 Feb 2024 10:05 AM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात के लगभग हर शहर में आवारा कुत्तों का आतंक है। राज्य में ये समस्या इतनी बड़ी है कि गुजरात हाई कोर्ट ने भी माना था कि आवारा कुत्तों के कारण नागरिकों के लिए सुबह की सैर करना कठिन हो रहा है। अब एक बार फिर कुत्ते की वजह से एक महिला को जान गंवानी पड़ गई।

मामला नर्मदा जिले का है जहां एक कुत्ते के अचानक कार के सामने कूदने से कार बैरिकेड से टकरा गई और कार में बैठी महिला की मौत हो गई। हैरानी की बात ये है कि उस वक्त कार ड्राइव कर रहा महिला का पति अब खुद को पत्नी की मौत का जिम्मेदार मान रहा है। उसका कहना है कि उसी की लापरवाही से महिला की मौत हुई है।  शख्स की पहचान 55 साल के परेश दोशी के रूप मे हुई है जिसने खुद के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करा दी है।  

कैसे हुआ हादसा?

जानकारी के मुताबिक दोशी और उनकी पत्नी अमिता, अंबाजी मंदिर से लौट रहे थे, तभी खेरोज-खेडब्रह्मा राजमार्ग पर दान महुदी गांव के पास यह दुर्घटना हुई। उन्होंने अपनी एफआईआर में कहा कि यह घातक दुर्घटना पूरी तरह से गाड़ी चलाते समय उनकी लापरवाही के कारण हुई, क्योंकि वह कुत्ते से टकराने से बचने के लिए बैरिकेड्स से टकरा गए थे। दोशी ने पुलिस को बताया, ''मैं और मेरी पत्नी रविवार को जल्दी घर से निकले और पास के अंबाजी मंदिर पहुंचे।  हालांकि, मंदिर बंद था। हमने दोपहर 1.30 बजे तक इंतजार किया, प्रार्थना की और चले गए।

उन्होंने कहा, मैं सुका अंबा गांव की ओर गाड़ी चला रहा था तभी एक आवारा कुत्ता हमारी कार के सामने आ गया। कुत्ते से टकराने से बचने के लिए मैंने गाड़ी मोड़ी और गाड़ी से नियंत्रण खो दिया, जिससे गाड़ी सड़क के किनारे बने बैरिकेड्स से जा टकराई। गाड़ी ऑटो लॉक होने के कारण वह दोनों गाड़ी में ही फंस गए और बैरिकेडिंग का एक हिस्सा कार की खिड़की को छेद कर अंदर घुस गया  और अमिता को सीट से चिपका दिया। इसमेंम अमिता गंभीर रूप से घायल हो गए।

शीशा तोड़कर बचाई जान

हादसे की खबर पाकर आस पड़ोस के लोग दोनों को बचाने के लिए दौड़े।  किसी ने खिड़की का शीशा तोड़ा, ताला खोला और दोनों को कार से बाहर निकलने में मदद की। दोशी ने कहा, अमिता को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। अब उन्होंने अपने खिलाफ  लापरवाही से गाड़ी चलाने से मौत की शिकायत दर्ज कराई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें