DA Image
21 जनवरी, 2021|1:02|IST

अगली स्टोरी

सूरत में चल रहा खेल, बिना सैंपल व जांच के घर बैठे दे रहे कोरोना निगेटिव रिपोर्ट

coronavirus patients  file pic

गुजरात में कोरोना मरीज करीब सवा लाख हो चुके हैं। एक तरफ जहां रोज नए मरीजों का रिकॉर्ड टूट रहा है, वहीं निजी लैब में कोरोना टेस्ट को लेकर पैसे का खेल चल रहा है। पैसा दो और मनमानी रिपोर्ट ले लो। न जांच कराने वाले का पता, न सैंपल कलेक्शन का झंझट। यहां तक कि उत्तर प्रदेश में बैठे लोगों की भी सूरत में निगेटिव रिपोर्ट तैयार हो जा रही है।

चूंकि दूसरे राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूरों का पहले कोरोना टेस्ट किया जाता है। ऐसे में पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर उन्हें कोरेंटाइन कर दिया जाता है। इससे बचने के लिए प्रवासी मजदूरों के एजेंट पहले से ही पैसे देकर लैब से उनका निगेटिव रिपोर्ट तैयार रखते हैं।

इन एजेंटो का कहना है कि बिना सैंपल और जांच के 1500 से दो हजार रुपए में निगेटिव रिपोर्ट मिल जाती है। यहां तक कि लैब वाले प्रति मजदूर एजेंट को तीन सौ से पांच सौ तक कमीशन भी देते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:In Surat giving corona negative report while sitting at home without sample and investigation