फोटो गैलरी

Hindi News गुजरातगुजरात में 'जहरीली शराब' पीने से दो की मौत, राहुल बोले- पटेल की भूमि पर 'नशे' का खेल

गुजरात में 'जहरीली शराब' पीने से दो की मौत, राहुल बोले- पटेल की भूमि पर 'नशे' का खेल

गुजरात के जूनागढ़ जिले में जहरीला तरल पदार्थ मिली शराब पीने से दो लोगों की मौत हो गई। इस घटना को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा है। जानें क्या है पुलिस की प्रतिक्रिया... 

गुजरात में 'जहरीली शराब' पीने से दो की मौत, राहुल बोले- पटेल की भूमि पर 'नशे' का खेल
Krishna Singhभाषा,अहमदाबादTue, 29 Nov 2022 09:50 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

गुजरात के जूनागढ़ जिले में जहरीला तरल पदार्थ मिली शराब पीने से दो लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि यह घटन जहरीली शराब की वजह से नहीं हुई है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजकुमार पांडियन ने कहा कि शहर के गांधी चौक क्षेत्र में सोमवार रात साढ़े सात बजे से साढ़े आठ बजे के बीच दो ऑटोरिक्शा चालकों, रफीक धोधरी (45) और भरत पिधड़िया (40) की 'संदिग्ध तरल पदार्थ' पीने के तुरंत बाद मौत हो गई। इस घटना को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा है। 

गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान हुई इस घटना पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि महात्मा गांधी और सरदार पटेल की भूमि पर 'नशे' का खेल चल रहा है। उन्होंने कहा- 'शराबबंदी वाले गुजरात में फिर जहरीली शराब से लोगों की मौत हुई! एक तरफ दिखावे की शराबबंदी, दूसरी ओर जहरीली शराब और ड्रग्स से लोग मर रहे हैं। रोजगार की जगह जहर दे रही है सरकार।' ये है भाजपा का 'गुजरात मॉडल'! गांधी-सरदार की भूमि को नशे में लिप्त कर दिया है।'

इस घटना के बारे में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजकुमार पांडियन ने कहा कि दोनों लोगों को जूनागढ़ सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने संवाददाताओं को बताया कि पोस्टमॉर्टम से मृतकों के विसरा में जहरीला पदार्थ होने का पता चला। हमने तुरंत पदार्थ को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा। इसमें इथेनॉल और साइनाइड पाया गया। इसमें मेथेनॉल नहीं था, जो जहरीली शराब से मौत का संकेत होता।

अधिकारी ने कहा कि दोनों ने शराब पीने से पहले उसमें जहरीला पदार्थ मिलाया था। यह पता लगाने के लिए जांच की जा रही है कि दोनों को जहरीले तरल पदार्थ की आपूर्ति किसने की थी। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि क्या किसी ने उन्हें तरल पदार्थ पिलाया। हम पिछले तीन दिनों में उनकी (मृतकों) आवाजाही का पता लगाने के लिए सीसीटीवी फुटेज की छानबीन करेंगे। यही नहीं इनके मोबाइल फोन की कॉल डिटेल को भी खंगाला जाएगा। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें