फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News गुजरातमनोकामना पूरी नहीं हुई तो इतना नाराज हुआ 'भक्त' कि मंदिरों में ही लगा दी आग

मनोकामना पूरी नहीं हुई तो इतना नाराज हुआ 'भक्त' कि मंदिरों में ही लगा दी आग

मंदिरों में आग लगाने के आरोप में पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है। जानकारी के मुताबिक, यह 13 मई की घटना है। एफआईआर में बताया गया कि रामदेव पीर मंदिर में टायरों की मदद से आग लगा दी गई।

मनोकामना पूरी नहीं हुई तो इतना नाराज हुआ 'भक्त' कि मंदिरों में ही लगा दी आग
Devesh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,राजकोटTue, 14 May 2024 02:52 PM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात का एक हिंदू शख्स भगवान से नाराज हो गया। गुस्से में उसने दो-दो मंदिरों को आग के हवाले कर दिया। आगजनी के बाद एक मंदिर की प्रतिमा को नुकसान भी पहुंचा है। आरोपी ने एक मंदिर में टायर तो दूसरे में लकड़ी की मदद से आग लगा दी। यही नहीं, आरोपी ने एक तीसरे मंदिर को भी जलाने की पूरी कोशिश की। शुरुआत में इलाके के लोगों को लगा कि किसी शरारती तत्व ने इस घटना को अंजाम दिया है, लेकिन जब सच्चाई सामने आई तब सभी के होश उड़ गए। यह राजकोट जिले का मामला है।

मंदिरों में लगा दी आग
'देश गुजरात' की रिपोर्ट के मुताबिक, भगवान से निराश होने के चलते राजकोट के झियाना गांव के एक शख्स ने मंदिरों में आग लगा दी। आरोपी पहले इसी गांव का प्रधान था। वह भगवान से काफी नाराज था। उसने गांव के रामदेव पीर मंदिर और मेलडी माता मंदिर में आग लगा दी।

तीसरे मंदिर को भी जलाने की कोशिश
मंदिरों में आग लगाने के आरोप में पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है। जानकारी के मुताबिक, यह 13 मई की घटना है। एफआईआर में बताया गया कि रामदेव पीर मंदिर में टायरों की मदद से आग लगा दी गई। आग लगने से मूर्ति को नुकसान भी पहुंचा है। वहीं मेलडी माता मंदिर में लकड़ी से आग लगाई गई थी। इसके अलावा एक और मंदिर में आग लगाने की कोशिश की गई थी, लेकिन मंदिर का कपाट बाहर से बंद था। कपड़े में आग लगाकर मंदिर के ऊपर फेंका गया था।

भगवान से हुआ नाराज
इलाके के तीन मंदिरों में आगजनी की घटना पर शुरुआत में लोगों को लगा कि यह किसी असामाजिक तत्व का काम है। इसे लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई। मामले की जांच में पता चला कि आग लगाने वाला कोई और नहीं बल्कि उसी गांव का पूर्व प्रधान अरविंद सरवैया है। दरअसल, अरविंद भगवान से काफी नाराज था। पूजा-पाठ करने पर भी उसकी मनोकामना पूरी नहीं हो रही थी। जो चाहता था वह नहीं मिल पाने से वह हताश हो गया। गुस्से में उसने मंदिरों में आग लगा दी। पुलिस ने आरोपी अरविंद को गिरफ्तार कर लिया है।