फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News गुजरातलड़की ने वायरल कर दी रूममेट की बाथरूम वाली तस्वीरें, फिर खुद पहुंच गई कोर्ट; वजह हैरान कर देगी

लड़की ने वायरल कर दी रूममेट की बाथरूम वाली तस्वीरें, फिर खुद पहुंच गई कोर्ट; वजह हैरान कर देगी

पीड़िता के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें कहा गया कि अपराधी उनकी बेटी का क्लासमेट हो सकता है क्योंकि तस्वीरें हॉस्टल के वॉशरूम में ली गई हैं।

लड़की ने वायरल कर दी रूममेट की बाथरूम वाली तस्वीरें, फिर खुद पहुंच गई कोर्ट; वजह हैरान कर देगी
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 11 Jun 2024 12:19 PM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक युवती ने अपनी पूर्व होस्टल रूममेट की प्राइवेंट तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दीं। यह तस्वीरें युवती ने चोरी से ली थीं। युवती ने यह सब इसलिए किया क्योंकि वह उसकी सगाई तोड़ना चाहती थी। गुजरात हाई कोर्ट ने इस मामले में महिला पर 25 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।

न्यायमूर्ति निर्जर देसाई ने माना की कि आरोपी लड़की अपनी रूम मेट के साथ एक विवाद को लेकर हिसाब किताब  चुकता करना चाहती थी और इसलिए उसने ये सब किया। निर्जर देसाई ने कहा, आऱोपी को कानूनी सहायता सोसायटी में जुर्माना जमा करना होगा। आरोपी ने ही इस मामले में कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। उसने दावा किया था कि पीड़िता के परिवार ने उसे माफ कर दिया है, ऐसे में उसके खिलाफ दायर एफआईआर रद्द की जानी चाहिए।

घटना उस वक्त की है जब पीड़ित लड़की की साल 2020 में सगाई हुई। उसकी सगाई के ठीक बाद एक अज्ञात शख्स के नाम से बने एक इंस्टाग्राम अकाउंट से लड़की की हॉस्टल के समय की कुछ आपत्तिजनक तस्वीरे शेयर की गईं। ये तस्वीरें होस्टल के वॉशरूम की थी जो चोरी छिपे खींची गई थीं। यह सिलसिला कई महीनों तक जारी रहा लेकिन फिर पीड़िता ने अपने परिवार को इस बारे में सब कुछ बता दिया। 

मार्च 2021 में, पीड़िता के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें कहा गया कि अपराधी उनकी बेटी का क्लासमेट हो सकता है क्योंकि तस्वीरें हॉस्टल के वॉशरूम में ली गई प्रतीत होती हैं। पुलिस ने आईपीसी की धारा 507 (गुमनाम संचार द्वारा आपराधिक धमकी) और आईटी अधिनियम की धारा 66 (सी) लगाई  लेकिन मामला लंबा खिंच गया। आरोपी ने हाल ही में अदालत का दरवाजा खटखटाया और कहा कि उसने और उसकी पूर्व रूममेट ने अपना विवाद सुलझा लिया है और उसके परिवार को उसके खिलाफ एफआईआर रद्द होने पर कोई आपत्ति नहीं है। न्यायमूर्ति देसाई ने याचिका स्वीकार कर ली, लेकिन कहा कि फिर भी उन्हें अपने अपराध के लिए जुर्माना भरना होगा।