DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   गुजरात  ›  प्रदर्शनी के माध्यम से संविधान यात्रा की जानकारी

गुजरातप्रदर्शनी के माध्यम से संविधान यात्रा की जानकारी

विशेष संवाददाता, केवड़ियाPublished By: Amit Gupta
Sat, 28 Nov 2020 10:13 AM
प्रदर्शनी के माध्यम से संविधान यात्रा की जानकारी

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की अगुवाई में देश भर में 71 वें संविधान दिवस को उत्साह के साथ मनाने और संविधान की प्रस्तावना पढ़े जाने के साथ गुजरात के केवड़िया में आयोजित प्रदर्शनी भी आकर्षण का केंद्र बनी। केवड़िया में आयोजित 80 वें पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन के दौरान संविधान की यात्रा पर आयोजित विशेष प्रदर्शनी की सांसदों और विधायकों ने सराहना की। प्रदर्शनी का आयोजन सूचना व प्रसारण मंत्रालय के आउटरीच संचार ब्यूरो द्वारा संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार के सहयोग से किया गया था। गुजरात में स्टैचू ऑफ यूनिटी के पास इस प्रदर्शनी का उद्घाटन लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने किया गया था। 

प्रदर्शनी के माध्यम से देश में लोकतांत्रिक परंपरा की यात्रा को वैदिक काल से लेकर लिच्छवी गणराज्य से होते हुए आधुनिक भारत के निर्माण तक की यात्रा को दर्शाया गया है।
करीब 1,600 वर्ग फिट के इलाके में फैली मल्टी मीडिया प्रदर्शनी में 5o पैनल, प्लाज्मा डिस्प्ले, इंटरैक्टिव डिजिटल फ्लिप बुक, आरएफआईडी कार्ड रीडर, इंटरएक्टिव स्क्रीन, डिजिटल टच वॉल आदि के माध्यम से संविधान के विविध पहलुओ को दर्शाया गया। लोकसभा अध्यक्ष ने प्रदर्शनी में मल्टी-मीडिया के उपयोग की सराहना की और कहा कि इंटरैक्टिव प्रदर्शनियाँ सूचना प्रसार को रोचक बनाती हैं। उन्होंने कहा, प्रदर्शनी प्रभावी रूप से संविधान के निर्माण के कालक्रम को बताती है और इस तरह की प्रदर्शनी को हमारी लोकतांत्रिक परंपरा के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में ले जाना चाहिए।

थेपले खाने फिर आऊंगा गुजरात - बिरला

प्रमिला बेन आपके हाथ के मेथी के थेपले खाने के लिए मुझे दोबारा आरोग्य वन आना पड़ेगा। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने  आदिवासी समूह से जुड़ी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के हाथ का खाना खाने के बाद उनके हुनर को इन्ही शब्दो में सराहा।
केवड़िया  के आरोग्य वन में सेल्फ हेल्प ग्रुप की स्थानीय महिलाओं की लगन और अपने जीवन को आत्मनिर्भर बनाने के जज़बे को देख लोक सभा स्पीकर ने उनकी जमकर सराहना की। लोकसभा अध्यक्ष ने गुजराती में ट्वीट करके अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त किया।
लोकसभा अध्यक्ष ने स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं से बातचीत की और समूह द्वारा की जा रही गतिविधियों की जानकारी हासिल की।

संबंधित खबरें