फोटो गैलरी

Hindi News गुजरातकैडिला फार्मा के MD राजीव मोदी से 5 घंटे चली पूछताछ, विदेशी महिला से रेप का है आरोप

कैडिला फार्मा के MD राजीव मोदी से 5 घंटे चली पूछताछ, विदेशी महिला से रेप का है आरोप

कैडिला फार्मास्यूटिकल्स के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव मोदी से गुजरात पुलिस ने लगभग 5 घंटे पूछताछ की। मोदी पर बुल्गारियाई मूल की विदेशी महिला के साथ रेप और यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा है।

कैडिला फार्मा के MD राजीव मोदी से 5 घंटे चली पूछताछ, विदेशी महिला से रेप का है आरोप
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,अहमदाबादThu, 15 Feb 2024 10:35 PM
ऐप पर पढ़ें

कैडिला फार्मास्यूटिकल्स के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव मोदी से गुजरात पुलिस ने लगभग 5 घंटे पूछताछ की। मोदी पर बुल्गारियाई मूल की महिला के साथ रेप और यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगा है। इस मामले में राजीव मोदी को पुलिस ने तलब किया था। मोदी का कहना है कि वह निर्दोष है और आरोप लगाने वाली बुल्गारियाई महिला से कभी अकेले में नहीं मिला है। 

इस मामले पर जानकारी देते हुए एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कैडिला के चेयरमैन राजीव मोदी को पूछताछ के लिए तलब किया गया था। पुलिस ने बताया कि राजीव मोदी सुबह के 8 बजे सोला पुलिस के समक्ष पेश हुए थे। इसके बाद पुलिस ने आरोपी से लगातार 5 घंटे तक पूछताछ करती रही। यह पूछताछ दोपहर के 1 बजे तक चली। पुलिस की ओर से बताया गया है कि आरोपी राजीव मोदी बार-बार कह रहा है कि वह निर्दोष है और उसने आरोप लगाने वाली महिला से कभी अकेले में मुलाकात नहीं की है, बल्कि जब भी मिला है सबके सामने मिला है।

बीते साल दिसंबर महीने में गुजरात हाईकोर्ट ने राजीव मोदी पर रेप और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली बुल्गारियाई महिला की शिकायत को खारिज करने के मजिस्ट्रेट अदालत के फैसले को रद्द कर दिया था। इसके बाद अदालत ने गुजरात के डीआइजी (कानून एवं व्यवस्था) द्वारा नियुक्त एक वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी को मामले की जांच करने का निर्देश दिया था।

इस मामले में न्यायमूर्ति एचडी सुथार ने 27 वर्षीय महिला की एफआईआर के आवेदन को खारिज करने के मजिस्ट्रेट अदालत के आदेश को रद्द कर दिया और मजिस्ट्रेट को आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 156 (3) के तहत जांच का आदेश देने का निर्देश दिया। न्यायाधीश ने मजिस्ट्रेट अदालत की प्रक्रिया में अनियमितताएं देखीं थी। इस मामले में महिला द्वारा संज्ञेय आरोप लगाने के बावजूद, अदालत ने पुलिस को जांच करने के लिए कहने के बजाय सबूत का बोझ उस पर डालकर उसकी शिकायत को खारिज कर दिया था। इसके बाद 31 दिसंबर को इस मामले में केस दर्ज किया गया था।

इस मामले में मिली जानकारी के अनुसार, बुल्गारियाई महिला नवंबर 2022 में फ्लाइट अटेंडेंट के रूप में फार्मास्युटिकल कंपनी में शामिल हुई थी। इसके बाद उस बुल्गारियाई महिला को कैडिला फार्मा के सीएमडी के लिए निजी सहायक के रूप में काम करने के लिए नियुक्त किया गया था। बुल्गारियाई महिला ने फरवरी 2023 में मोदी पर यौन उत्पीड़न और रेप करने का आरोप लगाया। महिला ने बताया कि शिकायत करने के बाद उसे नौकरी से निकाल दिया गया था।

बुल्गारियाई महिला ने दावा किया कि उसने राजीव मोदी के खिलाफ रेप और यौन उत्पीड़न की शिकायत के साथ शहर की पुलिस से संपर्क किया, लेकिन पुलिस ने कोई सहायता नहीं की। महिला ने बताया कि इस मामले में कोई एफआईआर (प्रथम सूचना रिपोर्ट) दर्ज नहीं की गई थी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें