फोटो गैलरी

Hindi News गुजरातगुजरात में बच्चों को नंबर देने में गलती करने वाले शिक्षकों पर ऐक्शन, डेढ़ करोड़ रुपए का जुर्माना

गुजरात में बच्चों को नंबर देने में गलती करने वाले शिक्षकों पर ऐक्शन, डेढ़ करोड़ रुपए का जुर्माना

सदन में पेश लिखित जवाब के अनुसार राज्य सरकार ने इन शिक्षकों पर 1.54 करोड़ रुपए का संचयी जुर्माना लगाया। प्रति शिक्षक औसतन लगभग 1,600 रुपए जुर्माना लगाया गया।

गुजरात में बच्चों को नंबर देने में गलती करने वाले शिक्षकों पर ऐक्शन, डेढ़ करोड़ रुपए का जुर्माना
Devesh Mishraभाषा,गांधीनगरWed, 07 Feb 2024 04:36 PM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात में दसवीं और बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के दौरान अंकों की गणना में गलती करने पर नौ हजार से अधिक स्कूली शिक्षकों पर दो वर्षों में 1.54 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया। राज्य के शिक्षा मंत्री ने विधानसभा में यह जानकारी दी है।

प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस विधायक किरीट पटेल के एक सवाल के जवाब में राज्य के शिक्षा मंत्री कुबेर डिंडोर ने स्वीकार किया कि कम से कम 9,218 शिक्षकों- 10वीं कक्षा के 3,350 और 12वीं कक्षा के 5,868, ने साल 2022 और 2023 में बोर्ड परीक्षा में उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के दौरान अंकों की गणना में गलतियां की थीं।

सदन में पेश लिखित जवाब के अनुसार राज्य सरकार ने इन शिक्षकों पर 1.54 करोड़ रुपए का संचयी जुर्माना लगाया। प्रति शिक्षक औसतन लगभग 1,600 रुपए जुर्माना लगाया गया।

यह भी जानिए:
वहीं गुजरात के जामनगर जिले में 15 फुट गहरे एक बोरवेल में गिरे दो वर्ष के बच्चे को छह घंटे के बचाव अभियान के बाद बचाव दल ने सफलतापूर्वक बाहर निकाल लिया। जामनगर के जिलाधिकारी बीके पांड्या ने बताया कि मंगलवार शाम करीब छह बजे गोवाना गांव के एक खेत में खेल रहा बच्चा खुले बोरवेल में गिर गया था।

पांड्या ने बताया कि जिले के दमकल और आपात सेवा कर्मियों का एक बचाव दल तुरंत मौके पर पहुंचा। उन्होंने बताया कि बचाव कर्मियों ने बोरवेल में ऑक्सीजन की आपूर्ति की और बच्चे तक पहुंचने के लिए समानांतर एक गड्ढा खोदा गया।

जिलाधिकारी ने बताया कि बच्चे को मंगलवार देर रात साढ़े 12 बजे बाहर निकाल लिया गया, उसे आनन-फानन में जामनगर के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसका उपचार किया जा रहा है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें