फोटो गैलरी

Hindi News गुजरात108 मजार तोड़े गए, घूम ही रहा है बुलडोजर; विधानसभा में बोली भाजपा सरकार

108 मजार तोड़े गए, घूम ही रहा है बुलडोजर; विधानसभा में बोली भाजपा सरकार

गुजरात के गृहमंत्री हर्ष सांघवी ने विधानसभा को बताया कि भूपेंद्र पटेल की अगुवाई वाली सरकार ने ऐसे 108 मजारों को ध्वस्त कर दिया है। उन्होंने कहा कि बुलडोजर अभी भी राज्य में घूम रहा है।

108 मजार तोड़े गए, घूम ही रहा है बुलडोजर; विधानसभा में बोली भाजपा सरकार
Sudhir Jhaहिन्दुस्तान टाइम्स,गांधीनगरThu, 22 Feb 2024 10:05 AM
ऐप पर पढ़ें

गुजरात के गृहमंत्री हर्ष सांघवी ने बुधवार को विधानसभा को बताया कि भूपेंद्र पटेल की अगुवाई वाली सरकार ने ऐसे 108 मजारों को ध्वस्त कर दिया है जिन्हें अतिक्रमण करके 'साजिश' के तहत बनाया गया था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का बुलडोजर अभी भी घूम ही रहा है। सांघवी ने जनता को यह भी भरोसा दिया कि सरकार मंदिरों को किसी भी बुरी नजर से बचाने के लिए सतर्क है। 

एलिसब्रिज से भाजपा के विधायक के भाषण के संदर्भ में उन्होंने कहा, 'आज अमित भाई ने जिस बात का जिक्र किया,... उन्होंने कहा कि जमालपुर में एक देरासर को हटाया दिया गया था। अब दादा का (भूपेंद्र पटेल) का बुलडोजर राज्य में हर तरफ घूम रहा है ताकि किसी मंदिर या देवस्थान को साजिश करके ना हटाया जा सके। कोई नहीं जानता कि यह (बुलडोजर) कहां जाएगा।' उन्होंने जूनागढ़ में ऊपरकोट किला परिसर में अचानक कई मजार दिखने पर सवाल किए। उन्होंने कहा, 'ऊपरकोट में, कोई नहीं जानता कि कहां (और कब) सभी मजार बनाए गए, यह अचानक कैसे बनाए जा सकते हैं।'
 
सांघवी ने कहा, '108 मजार तोड़े गए हैं और राज्य की संपत्ति को मुक्त कराया गया है। सोमनाथ के आसपास अतिक्रमण हटाया गया है। दादा का बुलडोजर 20 फीट चौड़ी गली और 80 मीटर चौड़ी सड़क पर प्रवेश कर सकती है।' मंत्री ने नवरात्रि उत्सव को देर रात तक बढ़ाए जाने को लेकर हो रही आलोचना का भी जवाब दिया। हाई कोर्ट में दायर एक पीआईएल को लेकर उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधा और सांस्कृतिक उत्सव को राज्य की पहचान का अभिन्न हिस्सा बताया। 

सांघवी ने कहा, 'नवरात्रि (मनाने के लिए) पर पूरी रात की इजाजत दी गई है ताकि गुजरात के लोग पूरी रात देवी की पूजा कर सकें और रास खेल सकें। सुप्रीम कोर्ट और (गुजरात) हाई कोर्ट को ध्यान में रखकर हमने निश्चित तौर पर साउंड (म्यूजिक का) कम कर दिया है।' मंत्री ने कहा कि इससे दुकानदारों और गरीबों को फायदा होगा। 

सांघवी ने कहा, 'मैंने कहा था कि यदि मेरे राज्य के लोग गरबा नहीं कर सकते हैं तो क्या वे पाकिस्तान में ऐसा करेंगे? मेरे बयान के अगले ही दिन एक पार्टी के लोगों ने हाई कोर्ट में पीआईएल दायर कर दी। यदि राज्य में लोग देर रात तक गरबा करते हैं तो उन्हें दिक्कत है। क्या लोग देर रात तक गरबा नहीं कर सकते?' 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें