DA Image
22 फरवरी, 2020|6:47|IST

अगली स्टोरी

वीडियो गैलरी

Hindustan Shikhar Samagam: संघर्ष की दास्तां सुनाते हुए मंच पर रो पड़ीं एथलीट खुशबू

हिन्दुस्तान शिखर समागम के मंच पर अपने संघर्ष की दास्तां सुनाते हुए एथलीट खुशबू गुप्ता रो पड़ीं। उन्होंने कहा कि हम लोग आठ बहनें हैं। कभी-कभी पांच सौ रुपये का भी धंधा नहीं होता है। कोई साथ नहीं देते हैं। यह कहते ही वह रो पड़ीं। इसके बाद मंच से तीन लोगों ने आर्थिक मदद का ऐलान भी किया। एथलेटिक्स प्लेयर खुशबू ने कहा कि मेरे पिता आज भी फुटपाथ पर जूते-चप्पल लगाते हैं। डीएम दुकान हटवा देते हैं। दुकानें बंद करा दी जाती हैं। अगले महीने हरियाणा में पुलिस मीट होने वाला है। मैं उस पर फोकस कर रही हूं। मुझे रियो ओलिंपिक में जाना है, उस पर भी फोकस कर रही हूं। घर की चिंता रहती है। इसलिए दोनों ओर मन लगा रहता...

चुटकुले

जब पति की आंखों में आंसू आ गए, पढ़िए मजेदार जोक्स

पति और पत्नी एक कुएं के पास गए,
जहां सिक्का डालने से मन की मुराद
पूरी हो जाती थी...!

पहले पति ने सिक्का डाला, फिर पत्नी
जैसे ही सिक्का डालने गई तो 
पैर फिसल गया और वो कुएं में गिर गई!

पति की आंखों में आंसू आ गए,
ऊपर देखते हुए बोला- हे भगवान, 
इतनी जल्दी सुन ली...!!!