DA Image
3 मार्च, 2021|11:09|IST

अगली स्टोरी

जमकर डाउनलोड हो रहा Signal मैसेंजर एप, क्या Whatsapp से है बेहतर?

व्हाट्सएप (WhatsApp) नई डेटा पॉलिसी ला रहा है, जिसमें यूजर्स को डेटा शेयर करने की शर्त माननी होगी या फिर 8 फरवरी के बाद वे इस एप का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। ऐसे में बड़ी संख्या में यूजर्स निराश हैं और Signal और Telegram जैसे मैसेजिंग एप्स पर पलायन कर रहे हैं। इसी बीच दुनिया के सबसे अमीर शख्‍स और टेस्ला के सीईओ एलन मस्‍क ने भी ट्विटर पर सिग्नल एप इस्तेमाल करने की सलाह दे डाली। 

अब आलम यह है कि सिग्नल एप को एप्पल और गूगल प्ले स्टोर पर पिछले दो दिन में 1 लाख से ज्यादा डाउनलोड्स मिल गए हैं। इसके अलावा यह टॉप डाउनलोडेड एप्स के चार्ट में व्हाट्सएप को पछाड़कर पहले पायदान पर पहुंच गया है। सवाल यह उठता है कि क्या Signal सच में एक भरोसे लायक एप है और क्या इसे व्हाट्सएप के विकल्प के रूप में देखा जा सकता है। यहां हम इस एप के कुछ खास फीचर्स के बारे में बता रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: डाटा पॉलिसी में बदलाव पर किरकिरी होने के बाद WhatsApp ने दी सफाई

क्यों व्हाट्सएप से बेहतर है सिग्नल एप?
Signal app को दुनिया के सबसे सिक्योर एप में से एक माना जाता है। यहां यूजर डेटा शेयर होने का खतरा नहीं है। 
सिग्नल एप यूजर्स से उनके पर्सनल डेटा को नहीं मांगता, जिस प्रकार फिलहाल व्हाट्सएप कर रहा है। 
यहां आपके चैट बैकअप को क्लाउड (ऑनलाइन स्टोरेज) पर नहीं भेजा जाता। यह डेटा आपके फोन में ही सेव रहता है। 
इस एप में Data Linked to You नाम का फीचर भी है, जिसका काम है कि कोई भी चैट मैसेजेस का स्क्रीनशॉट न ले पाए। 
एक और खास फीचर यह है कि यहां पुराने मैसेसेज खुद ही गायब हो जाते हैं। 
व्हाट्सएप की तरह यहां ग्रुप बनाकर कोई भी आपको नहीं जोड़ सकता। इसमें पहले इनवाइट भेजना पड़ता है। 
इसमें Relay Calls का फीचर भी है। इसके जरिए आपका कॉल Signal सर्वर से जाता है, जिससे सामने वाले कॉन्टैक्ट को आपके IP एड्रेस का पता नहीं चलता। 
आप इसमें PIN भी सेट कर सकते हैं, ताकि कोई और आपके अकाउंट का इस्तेमाल न कर पाए। 

यह भी पढ़ें: Telegram में मिली बड़ी 'खामी', हैकर्स जान सकते हैं आपकी लोकेशन

क्या है सिग्नल एप?
Signal एक पॉप्युलर मैसेजिंग एप है, जो आईफोन, आईपैड, एंड्रॉइड, विंडोज, मैक और लिनक्स जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करता है। अन्य मैसेजिंग एप्स की तरह इसके जरिए भी आप मैसेज, फोटो, वीडियो या लिंक्स भेज सकते हैं, और ऑडियो या वीडियो कॉल्स कर सकते हैं। कंपनी ने हाल ही में ग्रुप वीडियो कॉलिंग फीचर जारी किया है, जिसके जरिए आप एक साथ 150 लोगों के साथ वीडियो कॉलिंग कर पाएंगे। 

किसने बनाया सिग्नल एप?
इस एप को Signal Foundation and Signal Messenger ने डेवलप किया है, जो एक नॉन-प्रॉफिट कंपनी है। ऐप को अमेरिकी क्रिप्टोग्राफर और वर्तमान में सिग्नल मैसेंजर के सीईओ मोक्सी मार्लिंस्पाइक द्वारा बनाया गया था। सिग्नल फाउंडेशन को व्हाट्सएप के को-फाउंडर ब्रायन एक्टन और मार्लिंसपाइक ने मिलकर स्थापित किया था। एक्टन ने 2017 में व्हाट्सएप को छोड़ा था और सिग्नल को फंड करने के लिए लगभग 50 मिलियन डॉलर का निवेश किया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:WhatsApp vs signal messenger app which is better in privacy and features