फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ गैजेट्स'चाइनीज कंपनियों को टक्कर देने के लिए इंडियन ब्रांड्स को बदलनी होगी स्ट्रैटेजी'

'चाइनीज कंपनियों को टक्कर देने के लिए इंडियन ब्रांड्स को बदलनी होगी स्ट्रैटेजी'

चाइनीज कंपनियों को टक्कर देने के लिए इंडियन टेलिविजन ब्रांड्स को अपनी स्ट्रैटेजी बदलनी होगी। यह कहना है टेलिविजन ब्रांड Daiwa के सीईओ और फाउंडर, विडियोटेक्स के डायरेक्टर अर्जुन बजाज का।

'चाइनीज कंपनियों को टक्कर देने के लिए इंडियन ब्रांड्स को बदलनी होगी स्ट्रैटेजी'
Vishnuलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीSun, 02 Oct 2022 03:42 PM
ऐप पर पढ़ें

इंडियन टेलिविजन ब्रांड्स खुद को वक्त के साथ चेंज नहीं कर पाए हैं। वहीं, चाइनीज कंपनियों ने टेक्नोलॉजी पर फोकस करके इंडियन मार्केट में कब्जा जमाया है। एग्रेसिव प्राइसिंग और मार्जिन स्ट्रैटेजी के दम पर चाइनीज कंपनियां मार्केट में पैठ बढ़ा रही हैं, वह हाई वॉल्यूम पर फोकस कर रही हैं। चाइनीज कंपनियों को टक्कर देने के लिए इंडियन टेलिविजन ब्रांड्स को अपनी स्ट्रैटेजी बदलनी होगी। यह कहना है टेलिविजन ब्रांड Daiwa के सीईओ और फाउंडर, विडियोटेक्स के डायरेक्टर अर्जुन बजाज का। लाइव हिंदुस्तान के साथ बातचीत में अर्जुन ने टेलिविजन मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री से जुड़े कई अहम मुद्दों पर चर्चा की है... 

इंडियन कंज्यूमर्स की जरूरत के हिसाब से तैयार करने होंगे प्रॉडक्ट
अर्जुन बजाज का कहना है कि इंडियन ब्रांड्स को रिसर्च एंड डिवेलपमेंट (आरएंडडी) पर फोकस करना चाहिए। इंडियन ब्रांड्स, ग्लोबल स्टैंडर्ड के हिसाब से प्रॉडक्ट्स तैयार कर रहे हैं। ब्रांड्स को इंडियन कंज्यूमर्स की जरूरतों को और बारीकी से समझना होगा और उसी हिसाब से अपने प्रॉडक्ट्स तैयार करने होंगे। मार्केटिंग स्पेंड्स को भी फोकस्ड तरीके से खर्च करना होगा। साथ ही, सेल्स चैनल को मजबूत करने के अलावा मार्जिन स्ट्रक्चर क्लीयर होना बहुत जरूरी है।

हमारे प्रॉडक्ट्स को लोगों से मिल रहा जबरदस्त रिस्पॉन्स 
इंडियन टेलिविजन मार्केट में लगातार नए-नए ब्रांड्स की एंट्री हो रही है, क्या मार्केट में इतनी संभावनाएं हैं? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इंडियन मार्केट की ग्लोबल मार्केट में पहचान बन चुकी है। मल्टीपल ब्रांड्स इंडियन मार्केट में अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रहे हैं। कई ब्रांड्स लाइसेंसिंग मॉडल में आए हैं, वह लॉयल्टी का भुगतान करते हैं। इंडियन मार्केट में काफी ज्यादा पोटेंशियल है। लोग लगातार अपने टेलिविजन अपडेट कर रहे हैं। जहां तक हमारी बात है तो हमने मेड इन इंडिया, मेक इन इंडिया पर पूरा फोकस किया है। विडियोटेक्स के पास टेक्नोलॉजी है। हम दाइवा (Daiwa) को भी टेक्नोलॉजी देते हैं। हमारे पास मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर है। दाइवा को लॉन्च किए हुए 6 साल हो चुके हैं। हम लगातार नई टेक्नोलॉजी के साथ नए-नए प्रॉडक्ट्स ला रहे हैं और हमारे प्रॉडक्ट्स को लोगों से बहुत अच्छा रिस्पॉन्स मिला है। 

डिस्प्ले फैब प्लांट से प्राइस घटने के साथ होगा वैल्यू एडिशन
भारत में अगर डिस्प्ले फैब (ओपन सेल) प्लांट लगता है तो टेलिविजन इंडस्ट्री को इससे क्या फायदा होगा? इस सवाल के जवाब में अर्जुन बजाज ने बताया कि डिस्प्ले फैब में बहुत सारी जेनरेशन होती हैं। असल सवाल यह है कि उसकी रीच क्या होगी और यह कब तक तैयार होगा। अगर डिस्प्ले फैब प्लांट भारत में लगता है तो चीन पर निर्भरता कम होगी। साथ ही प्राइसिंग पर भी असर पड़ेगा और वैल्यू एडिशन भी ज्यादा होगी। मौजूदा समय में ओपन सेल पर पूरी तरह से चीन का कब्जा है। चीन की 5-6 कंपनियां पूरे मार्केट को कंट्रोल करती हैं।

फेस्टिव सीजन के लिए हमें मिल रहे हैं अच्छे ऑर्डर
फेस्टिवल सीजन को लेकर कंपनी की क्या प्लानिंग है? इस सवाल के जवाब में अर्जुन ने बताया कि हमें ब्रांड्स से अच्छे ऑर्डर मिल रहे हैं। 43 इंच पर ज्यादा जोर है। ऑनलाइन प्लैटफॉर्म का क्या इंपैक्ट पड़ा है? इस पर उन्होंने बताया कि ऑनलाइन में इस समय फंडिंग बहुत है। प्लैटफॉर्म डिस्काउंट ऑफर कर रहे हैं। ऑफलाइन के सामने कई तरह की चुनौतियां हैं। सरकार से उनकी क्या उम्मीदें हैं, इस पर उन्होंने कहा कि टीवी इंडस्ट्री को अभी PLI नहीं मिला है। अगर PLI नहीं तो कुछ सपोर्ट मिलना चाहिए। बाहरी ब्रांड्स की बजाय इंडियन मैन्युफैक्चरर्स को प्रमोट किया जाना चाहिए।