फोटो गैलरी

Hindi News गैजेट्सWhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी बनी टेलीग्राम और सिग्नल के लिए वरदान, ऐप स्टोर से डाउनलोड में भारी उछाल

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी बनी टेलीग्राम और सिग्नल के लिए वरदान, ऐप स्टोर से डाउनलोड में भारी उछाल

एन्क्रिप्टेड मैसेजिंग ऐप सिग्नल और टेलीग्राम को एप्पल और गूगल के ऐप स्टोर से डाउनलोड में भारी उछाल देखने को मिल रहा है। इसके विपरीत, फेसबुक के स्वामित्व वाले व्हॉट्सएप के डाउनलोड में गिरावट देखी जा...

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी बनी टेलीग्राम और सिग्नल के लिए वरदान, ऐप स्टोर से डाउनलोड में भारी उछाल
एजेंसियां,ऑकलैंड (अमेरिका)Thu, 14 Jan 2021 08:11 PM
ऐप पर पढ़ें

एन्क्रिप्टेड मैसेजिंग ऐप सिग्नल और टेलीग्राम को एप्पल और गूगल के ऐप स्टोर से डाउनलोड में भारी उछाल देखने को मिल रहा है। इसके विपरीत, फेसबुक के स्वामित्व वाले व्हॉट्सएप के डाउनलोड में गिरावट देखी जा रही है। कंपनी द्वारा उपयोगकर्ताओं को भेजे गए एक गोपनीयता अपडेट के बारे में मांगे गए सुझाव के बाद यह प्रवृत्ति सामने आई है।

मोबाइल ऐप एनालिटिक्स फर्म सेंसर टॉवर ने बुधवार को कहा कि सिग्नल एप को 5 जनवरी से 12 जनवरी के सप्ताह के दौरान एप्पल और गूगल से 1.78 करोड़ बार डाउनलोड किया गया। यह पिछले सप्ताह के 2,85,000 से 61 गुना वृद्धि है। टेलीग्राम, जो दुनिया भर के लोगों के लिए पहले से ही लोकप्रिय मैसेजिंग ऐप है, को 5 जनवरी से 12 जनवरी के बीच 1.57 करोड़ बार डाउनलोड किया गया, जबकि पिछले सप्ताह इसे केवल 76 लाख बार डाउनलोड किया गया। इसमें दोगुनी वृद्धि देखी गई।

इस बीच व्हॉट्सएप को केवल 1.06 करोड़ बार ही डाउनलोड किया गया जो इससे पहले के सप्ताह में 1.27 करोड़ बार डाउनलोड हुआ था। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि शिफ्ट रूढ़िवादी सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं की भीड़ को प्रतिबिंबित कर सकता है जो फेसबुक, ट्विटर और अब बंद हो चुके दक्षिणपंथी साइट पारलर जैसे प्लेटफॉर्मों के विकल्प की तलाश कर रहे हैं। मुख्यधारा की साइटों ने पिछले हफ्ते राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को अपने साइट पर ब्लॉक कर दिया था और उनके समर्थकों द्वारा हिंसा भड़काने और अभद्र भाषा के उपयोग के खिलाफ अपना रुख कड़ा कर दिया था।

गौरतलब है कि व्हॉट्सएप ने 4 जनवरी को 'इन-एप’ अधिसूचना के जरिए नई निजता नीति को घोषित करते हुए अपने उपयोक्ताओं को सेवा की शर्तों और गोपनीयता की नीति के बारे में अपडेट देना शुरू किया। व्हॉट्सऐप ने इसमें बताया कि वह कैसे उपयोक्ताओं के डाटा का प्रसंस्करण करती है और उन्हें फेसबुक के साथ किस तरह से साझा करती है। अपडेट में यह भी कहा गया कि व्हॉट्सऐप की सेवाओं का उपयोग जारी रखने के लिए उपयोक्ताओं को आठ फरवरी, 2021 तक नई शर्तों व नीति से सहमत होना होगा।

कारोबार जगत के कई दिग्गजों सहित बड़ी संख्या में प्रयोगकर्ताओं ने इस कदम को लेकर चिंता जताई है। भारत में व्हॉट्सएप के प्रयोगकर्ताओं की संख्या 40 करोड़ से अधिक है। भारत वैश्विक स्तर पर व्हॉट्सएप के सबसे बड़े बाजारों में से है। व्हॉट्सएप की सेवा और निजता नीति में हालिया बदलाव को लेकर बहस छिड़ी है और कई प्रयोगकर्ता व्हॉट्सएप के प्रतिद्वंद्वी मंचों- टेलीग्राम और सिग्नल पर स्थानांतरित हो रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें