फोटो गैलरी

Hindi News गैजेट्सपासवर्ड के चक्कर में फंस गए 1800 करोड़, बचे हैं आखिरी दो मौके

पासवर्ड के चक्कर में फंस गए 1800 करोड़, बचे हैं आखिरी दो मौके

क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) के जरिए 180 मिलियन पौंड (करीब 1800 करोड़ रुपये) बनाने के बाद उसका पासवर्ड भूल जाने का अजीबोगरीब मामला सामने आया है। रिपोर्ट की मानें, तो अमेरिका के उस कंप्यूटर...

पासवर्ड के चक्कर में फंस गए 1800 करोड़, बचे हैं आखिरी दो मौके
लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 16 Jan 2021 03:58 PM
ऐप पर पढ़ें

क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) के जरिए 180 मिलियन पौंड (करीब 1800 करोड़ रुपये) बनाने के बाद उसका पासवर्ड भूल जाने का अजीबोगरीब मामला सामने आया है। रिपोर्ट की मानें, तो अमेरिका के उस कंप्यूटर प्रोग्रामर के पास पासवर्ड डालने के आखिरी दो मौके बचे हैं। जानकारी के मुताबिक, स्टीफन थॉमस नाम के इस निवेशक के पास 7,002 बिटकॉइन हैं और हर बिटकॉइन की कीमत 25.48 लाख रुपये है। थॉमस ने इन्हें एक एन्क्रिप्शन डिवाइस (IronKey) में सुरक्षित रखा था, लेकिन अब इसका पासवर्ड ही भूल गए। 

खो गया पासवर्ड लिखा पेपर
द सन की रिपोर्ट के मुताबिक, थॉमस ने पासवर्ड को एक पेपर के टुकड़े पर लिखकर रखा था। हालांकि गलती से वह कागज ही कहीं खो गया। जिस डिवाइस में बिटकॉइन रखे गए थे, उस पर अधिकतम 10 बार पासवर्ड डालने की सीमा है। पासवर्ड भूलने के बाद थॉमस 8 बार कोशिश कर चुके हैं। ऐसे में उनके पास दो मौके और हैं। अगर वे सही पासवर्ड नहीं डाल पाते तो 10 कोशिश पूरी हो जाने के बाद ये बिटकॉइन उन्हें कभी नहीं मिल पाएंगे। 

यह भी पढ़ें: 225 करोड़ रुपये से ज्यादा के फोन पहली सेल में बिके, iQOO का जबर्दस्त फोन

10 साल पुराने हैं बिटकॉइन
जर्मन में जन्में और अब सैन फ्रांसिस्को में रह रहे स्टीफन को ये बिटकॉइन साल 2011 में एक एनिमेशन बनाने पर रिवॉर्ड के रूप में मिले थे। तब से अब तक बिटकॉइन की कीमत में बड़ा बदलाव आ चुका है। मार्च 2020 के बाद से ही इसमें 720 फीसदी की ग्रोथ हुई है। स्टीफन ने द सन को बताया, 'मैं पूरा दिन बस पासवर्ड के बारे में सोचता रहता हूं। मैं हर बार कंप्यूटर के पास एक नई तरकीब के साथ जाता हूं, लेकिन निराश ही लौटना पड़ता है।'

यह भी पढ़ें: Xiaomi समेत चीन की 9 कंपनियां हुईं अमेरिका में ब्लैकलिस्ट, जानें क्या है वजह

बता दें कि क्रिप्टोकरेंसी का पासवर्ड भूल जाने का यह पहला मामला नहीं है। दुनियाभर में ऐसे कई यूजर्स हैं। खोए पासवर्ड वापस दिलाने में मदद करने वाली वॉलेट रिकवरी सर्विस की मानें तो उनके सामने एक दिन में ही इस तरह के 70 मामले आए हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें