फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ गैजेट्सलैपटॉप कंपनी Acer हुई हैकिंग का शिकार, यूजर्स का 50GB से ज्यादा पर्सनल डेटा लीक

लैपटॉप कंपनी Acer हुई हैकिंग का शिकार, यूजर्स का 50GB से ज्यादा पर्सनल डेटा लीक

अगर आप भी पॉप्युलर लैपटॉप कंपनी Acer के यूजर हैं तो आपको सावधान होने की जरूरत है। हाल ही में हैकर्स ने Acer के इंडियन सर्वर को शिकार बनाया और 50GB से ज्यादा डेटा चोरी कर लिया। रिपोर्ट के मुताबिक,...

लैपटॉप कंपनी Acer हुई हैकिंग का शिकार, यूजर्स का 50GB से ज्यादा पर्सनल डेटा लीक
Vishal Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 18 Oct 2021 08:06 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

अगर आप भी पॉप्युलर लैपटॉप कंपनी Acer के यूजर हैं तो आपको सावधान होने की जरूरत है। हाल ही में हैकर्स ने Acer के इंडियन सर्वर को शिकार बनाया और 50GB से ज्यादा डेटा चोरी कर लिया। रिपोर्ट के मुताबिक, Desorden नाम के ग्रुप ने इस हैकिंग की जिम्मेदारी लेते हुए दावा किया है कि उन्होंने करीब 60GB डेटा हासिल कर लिया है। हैकिंग ग्रुप की मानें तो चोरी की गई जानकारी में में ग्राहक और कॉर्पोरेट बिजनेस, दोनों तरह का डेटा शामिल है। 

हजारों ग्राहकों का डेटा चोरी
इस डेटा लीक के सबूत के तौर पर हैकर्स ग्रुप ने हैकर्स फोरम पर एक वीडियो भी पोस्ट किया है। इस डेटा लीक में 10,000 ग्राहकों का डेटा, और 3,000 डिस्ट्रीब्यूटर्स व रिटेलर्स का डेटा शामिल है। बता दें कि यह पहली घटना नहीं है जब Acer इस तरह के डेटा लीक का शिकार हुई हो। इससे पहले मार्च में भी ऐसी ही घटना सामने आई थी, जब हैकर्स ने चोरी किया गया डेटा वापस करने के लिए 50 मिलियन डॉलर की डिमांड की थी। 

यह भी पढ़ें: Flipkart Sale में इन फोन्स की सबसे ज्यादा डिमांड, कीमत 6,499 रुपये से शुरू

कंपनी ने खुद की पुष्टि
ताइवान की कंपनी Acer के प्रवक्ता ने टेक वेबसाइट ZDNet को इस साइबर-अटैक की पुष्टि की है। कंपनी ने दावा किया है कि उन्होंने अपने सिक्यॉरिटी सिस्टम के जरिए इस अटैक का पता लगाया है। एसर का कहना है कि उन्होंने भारत में अपने स्थानीय आफ्टर-सेल सर्विस सिस्टम पर इस अटैक को देखा है। इसके बाद कंपनी ने पूरे सिस्टम का स्कैन किया और सिक्योरिटी प्रोटोकॉल को एक्टिवेट किया। 

Acer ने कहा कि जो भी यूजर्स इस हैकिंग का शिकार हुए हैं, उन्हें इसकी जानकारी दे दी गई है। इसके अलावा, इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम को भी हैकिंग के बारे में सूचित कर दिया गया। कंपनी की मानें तो इस हैकिंग से कोई भारी नुकसान नहीं हुआ है, ना ही ग्राहकों की फाइनैंशियल जानकारी प्रभावित हुई है। 

epaper