DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   गैजेट्स  ›  देसी ट्विटर Koo में आया कमाल का फीचर, अब अपनी रीजनल भाषा में बोलकर टाइप कर पाएंगे मेसेज

गैजेट्सदेसी ट्विटर Koo में आया कमाल का फीचर, अब अपनी रीजनल भाषा में बोलकर टाइप कर पाएंगे मेसेज

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली Published By: Himani Gupta
Wed, 05 May 2021 11:42 AM
देसी ट्विटर Koo में आया कमाल का फीचर, अब अपनी रीजनल भाषा में बोलकर टाइप कर पाएंगे मेसेज

देसी ट्विटर 'कू' (Koo) में एक नया फीचर ऐड ओन हुआ है। इस फीचर के जरिए अब यूजर्स बिना लिखे अपना मेसेज टाइप कर सकेंगे। इसका मतलब यूजर्स अब बोलकर मैसेज को टाइप कर पाएंगे। आप अपने विचारों को बोलें और शब्द जादुई रूप से स्क्रीन पर दिखाई देंगे। और यह सब सिर्फ़ एक बटन पर क्लिक कर बिना कीबोर्ड का उपयोग किए हो जाएगा। खास बात है कि ये फीचर देश की सभी रीजनल लेंग्वेज को सपोर्ट करता है। यानी अब पोस्ट लिखने के लिए स्मार्टफोन पर टाइपिंग की जरूरत नहीं होगी। 

 

ये भी पढ़ें:- दवाइयां और ऑक्सीजन खरीदने वाले सावधान! WhatsApp और पेमेंट ऐप पर हो रही ठगी

 

इन 7 भाषाओं में टाइप कर पाएगा ऐप
ये ऐप अभी हिंदी, अंग्रेजी, कन्नड़, तेलुगु, तमिल, बंगाली और मराठी भाषाओं को सपोर्ट करता है। कंपनी का दावा है कि इन सारी क्षेत्रीय भारतीय भाषाओं में "टॉक टू टाइप" फीचर देने वाला ‘कू’ दुनिया का पहला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है। इस फीचर के आने से उपयोगकर्ताओं को मेसेज लिखने में आसानी होगी। इस तरह की सुविधा के माध्यम से कीबोर्ड का उपयोग करने में असहज महसूस करने वाले यूजर्स सक्षम और सशक्त बनेंगे।

 

मन की बात फ़ोन पर बोलें और शब्द खुद लिखे हुए नज़र आएंगे 
कू के सह-संस्थापक, अप्रमेय राधाकृष्ण ने कहा यह 'टॉक टू टाइप' सुविधा जादुई है और क्षेत्रीय भाषा के क्रीएटर्ज़ के लिए क्रीएशन को एक बेहतरीन स्तर पर ले जाती है। उपयोगकर्ताओं को अब कीबोर्ड का उपयोग करके लंबे विचारों को टाइप नहीं करना होगा। भारतीय भाषा बोलने वाले सभी जन अब अपने मन की बात फ़ोन पर बोलें और शब्द जादुई रूप से स्क्रीन पर दिखाई देने लगेंगे। जिन लोगों के लिए स्थानीय भाषाओं में लिखना मुश्किल था, उनके लिए यह सुविधा उनके सारे दर्द दूर कर देगी। आपको यह सुविधा फेसबुक, ट्विटर या अन्य किसी वैश्विक मंच पर नहीं मिलेगी।

 

ये भी पढ़ें:- सबसे सस्ता BSNL: ₹97 के प्लान में रोज 2GB डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग

 

Koo ऐप पर मिलता है ये शानदार फीचर भी 
कू को मार्च 2020 में भारतीय भाषाओं में एक माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के रूप में बनाया गया था। Koo पर आप किसी भी अनजान कू यूजर को मैसेज नहीं कर सकते हैं और अगर आपको किसी को मैसेज करना है तो आपको उनसे परमिशन लेनी होगी। अगर कू पर यूजर आपको परमिशन देते हैं तब ही आप उनके साथ चैट कर सकते हैं। इस पर 55 लाख से ज्यादा यूजर्स जुड़ चुके हैं। इस साल इस ऐप को तेजी से ग्रोथ मिल रही है। कंपनी का कहना है कि उनका फोकस 10 करोड़ यूजर्स को जोड़ने पर है।

संबंधित खबरें