फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ गैजेट्सरेलवे का तोहफा: अब नहीं छूटेगी Train, पल-पल की मिलेगी सटीक अपडेट; बिना IRCTC पासवर्ड बुक होगी टिकट

रेलवे का तोहफा: अब नहीं छूटेगी Train, पल-पल की मिलेगी सटीक अपडेट; बिना IRCTC पासवर्ड बुक होगी टिकट

Indian Railway: अब आपकी ट्रेन नहीं छूटेगी! ट्रेन के हर मूवमेंट को घर बैठे ट्रैक कर भी सकेंगे। इतना ही नहीं अब आप IRCTC पासवर्ड के बिना ट्रेन टिकट बुक कर सकेंगे। रेलवे एक नया सिस्टम लेकर आया है।

रेलवे का तोहफा: अब नहीं छूटेगी Train, पल-पल की मिलेगी सटीक अपडेट; बिना IRCTC पासवर्ड बुक होगी टिकट
Arpit Soniलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 24 Sep 2022 03:21 PM
ऐप पर पढ़ें

अब आपकी ट्रेन नहीं छूटेगी! क्योंकि आप ट्रेन के हर मूवमेंट को घर बैठे ट्रैक कर सकेंगे। रेल मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि Indian Railway, इसरो (ISRO) के साथ मिलकर एक रियल-टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (RTIS) इंस्टॉल कर रहा है, जो इंजनों पर "अराइवल और डिपार्चर और रन-थ्रू सहित स्टेशनों पर ट्रेन की आवाजाही के टाइम को ऑटोमैटिक ट्रैक करेगा।"

मंत्रालय ने कहा "इसरो के सहयोग से विकसित रियल टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (RTIS) को स्टेशनों पर ट्रेन की आवाजाही के समय के स्वचालित अधिग्रहण के लिए इंजनों पर स्थापित किया जा रहा है, जिसमें आगमन और प्रस्थान या रन-थ्रू शामिल हैं। ये खुद-ब-खुद कंट्रोल ऑफिस एप्लिकेशन (सीओए) सिस्टम में उन ट्रेनों के कंट्रोल चार्ट से प्लॉट हो जाते हैं। मंत्रालय ने कहा कि आरटीआईएस 30 सेकेंड की अवधि के साथ मिड-सेक्शन अपडेट देगा।

इसमें कहा गया है, "ट्रेन कंट्रोल अब आरटीआईएस (RTIS) इनेबल्ड लोकोमोटिव/ट्रेन की लोकेशन और स्पीड को बिना किसी मानवीय हस्तक्षेप के अधिक बारीकी से ट्रैक कर सकता है।" 21 इलेक्ट्रिक लोको शेड में 2,700 इंजनों के लिए RTIS डिवाइस लगाए गए हैं। दूसरे चरण के रोल आउट के हिस्से के रूप में, इसरो के सैटकॉम हब का उपयोग करके 50 लोको शेड में 6,000 और इंजनों को कवर किया जाएगा।

रेल यात्रा के दौरान खाना है मनपसंद खाना, तो ऐसे करें बुक; खुद सीट तक पहुंचाएगा रेलवे

मंत्रालय ने कहा, "वर्तमान में, लगभग 6,500 लोकोमोटिव (RTIS और REMMLOT) से जीपीएस फीड को सीधे कंट्रोल ऑफिस एप्लिकेशन (सीओए) में फीड किया जा रहा है। इससे सीओए और एनटीईएस इंटीग्रेशन के माध्यम से ट्रेनों की ऑटोमैटिक चार्टिंग और यात्रियों को रियल टाइम की सूचना इफॉर्मेंशन फ्लो सक्षम हो गया है।"

IRCTC के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (IRCTC) के नए लॉन्च किए गए चैटबॉट को बीटा लॉन्च के दौरान ट्रेन यात्रियों से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है क्योंकि 1 अरब से अधिक लोगों ने इसका इस्तेमाल किया है।

एएनआई से बात करते हुए, अधिकारी ने कहा कि रेलवे टिकट बुक करने के लिए नई कन्वर्सेशनल और सुविधाजनक सुविधा ग्राहकों को वॉयस, चैट और क्लिक-बेस्ड सिस्टम के माध्यम से सिस्टम के साथ बातचीत करने में सक्षम बनाती है। इसके अलावा, सिस्टम को किसी पासवर्ड की आवश्यकता नहीं है और यह वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) पर आधारित है। अधिकारी ने यह भी बताया कि टेक्नोलॉजी CoRover द्वारा संचालित है, एक कन्वर्सेशनल AI प्लेटफॉर्म जिसका उपयोग 1 बिलियन से अधिक उपयोगकर्ता कर रहे हैं।

अब बिंदास सोते-सोते करें रेल यात्रा, नहीं रहेगी स्टेशन निकलने की टेंशन

बातचीत से अपनी ट्रेन टिकट बुक कर सकेंगे यूजर
"यूजर एक्सपीरियंस को बढ़ाने के लिए हमारे निरंतर प्रयास में, नए युग की तकनीकों का लाभ उठाते हुए, हम आज एक बड़ी छलांग लगा रहे हैं। अब, यात्री हमारे एआई वर्चुअल असिस्टेंट, AskDISHA 2.0, CoRover द्वारा संचालित, का लाभ उठाते हुए, बातचीत के तरीके से अपनी ट्रेन टिकट बुक कर सकते हैं। कन्वर्सेशनल एआई प्लेटफॉर्म, जिसका उपयोग 1 बिलियन से अधिक उपयोगकर्ता करते हैं।" बेहतर वर्चुअल असिस्टेंट, AskDISHA 2.0 में टिकट बुक करना, पीएनआर स्टेटस चेक करना, टिकट कैंसिल करना, बोर्डिंग स्टेशन बदलना, रिफंड स्टेस्ट चेक करना और तत्काल समय जैसे प्रश्नों का उत्तर देना जैसी कई विशेषताएं हैं।

पासवर्ड को जाने बिना टिकट बुक कर सकेंगे यूजर
अधिकारी ने कहा "पहली बार, उपयोगकर्ता अपने IRCTC पासवर्ड को जाने बिना टिकट बुक कर सकते हैं, यह सिर्फ एक ओटीपी के साथ संभव होगा। AskDISHA 2.0 भी एक बहुत प्रभावी साधन और वॉयस बुकिंग के अतिरिक्त साबित हुआ है और यात्रियों को उनकी यात्राओं को प्लान करना और भी आसान बना देगा। "

वरिष्ठ अधिकारी ने यह भी अनुमान लगाया कि भविष्य में कम से कम 25 प्रतिशत ग्राहक इस ऑप्शन पर स्विच करेंगे। IRCTC Chatbot AskDISHA 2.0 के नए अवतार का उद्देश्य यूजर्स को उनके प्रश्नों के ऑथेंटिक, सही और जल्दी उत्तर प्राप्त करने में मदद करना है। अधिकारी ने कहा कि यह न केवल समय की बचत करेगा और यूजर एक्सपीरियंस को बढ़ाएगा, बल्कि उन्हें रियल टाइम में लेनदेन करने में भी मदद करेगा।

epaper