फोटो गैलरी

Hindi News गैजेट्सई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स पर सरकार सख्त, ग्राहकों के साथ किया ये काम तो लगेगा जुर्माना

ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स पर सरकार सख्त, ग्राहकों के साथ किया ये काम तो लगेगा जुर्माना

ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स अब खरीदारी करते समय ग्राहकों को बरगला नहीं सकेंगे। उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए, सरकार ने ई-कॉमर्स प्लेटफार्म्स पर "डार्क पैटर्न" के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है।

ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स पर सरकार सख्त, ग्राहकों के साथ किया ये काम तो लगेगा जुर्माना
Arpit Soniलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 02 Dec 2023 05:40 PM
ऐप पर पढ़ें

ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स अब खरीदारी करते समय ग्राहकों को बरगला नहीं सकेंगे। उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए, सरकार ने ई-कॉमर्स प्लेटफार्म्स पर "डार्क पैटर्न" के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है जो ग्राहकों को धोखा देने या उनकी पसंद में हेरफेर करने का इरादा रखते हैं। केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (सीसीपीए) द्वारा 30 नवंबर को इस संबंध में "डार्क पैटर्न की रोकथाम और रेगुलेशन के लिए गाइडलाइन्स" के रूप में एक गजट नोटिफिकेशन जारी किया गया था, जो भारत में सामान (गुड्स) और सर्विसेस की पेशकश करने वाले सभी प्लेटफार्म्स और यहां तक ​​कि विज्ञापनदाताओं और विक्रेताओं पर भी लागू है।

उल्लंघन पर लगेगा जुर्माना
डार्क पैटर्न का सहारा लेना भ्रामक विज्ञापन या अनफेयर ट्रेड प्रेक्टिस या उपभोक्ता अधिकारों का उल्लंघन होगा। इसमें कहा गया है कि जुर्माना उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार लगाया जाएगा।

उपभोक्ता मामलों के सचिव रोहित कुमार सिंह ने पीटीआई-भाषा को बताया, ''उभरते डिजिटल कॉमर्स में, उपभोक्ताओं को उनकी खरीदारी के विकल्पों और व्यवहार में हेरफेर करके गुमराह करने के लिए प्लेटफार्म्स द्वारा डार्क पैटर्न का तेजी से उपयोग किया जा रहा है।'' उन्होंने कहा कि अधिसूचित गाइडलाइन्स सभी स्टेकहोल्डर्स - खरीदारों, सेलर्स, मार्केटप्लेस और रेगुलेटर्स - के मन में स्पष्टता सुनिश्चित करेंगे कि अनफेयर ट्रेड प्रेक्टिस के रूप में क्या स्वीकार्य नहीं है, बाद वाला उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत उत्तरदायी होगा।

Flipkart की धमाकेदार डील: ₹7649 में 200MP कैमरे वाला फोन, 8GB मॉडल ₹9599 में

क्या होगा है डार्क पैटर्न, समझिए
नोटिफिकेशन के अनुसार, डार्क पैटर्न को किसी भी प्लेटफॉर्म पर यूजर इंटरफेस या यूजर एक्सपीरियंस इंटरैक्शन का उपयोग करके किसी भी प्रेक्टिस या भ्रामक डिजाइन पैटर्न के रूप में परिभाषित किया गया है जो यूजर्स को गुमराह करने या धोखा देने के लिए डिजाइन किया गया है, जो यूजर वास्तव में नहीं करना चाहते थे।

उदाहरण के लिए, 'बास्केट स्नीकिंग' एक डार्क पैटर्न है जिसमें यूजर की सहमति के बिना किसी प्लेटफॉर्म से चेकआउट के समय प्रॉडक्ट, सर्विसेस, चैरेटी या डोनेशन के लिए पेमेंट जैसे एडिशनल आइटम कार्ट में जोड़ देता है, जिससे यूजर कीा टोटल पेएबल अमाउंट चुने गए प्रोडक्ट या सर्विस के लिए पेएबल अमाउंट से अधिक हो जाता है।।

एक अन्य डार्क पैटर्न जिसे "फोर्स्ड एक्शन" कहा जाता है का मतलब "किसी यूजर को ऐसी कार्रवाई करने के लिए मजबूर करना जिसके लिए यूजर को अपना पसंदीदा समान या सर्विस खरीदने या सब्सक्राइब करने के लिए कोई अतिरिक्त सामान खरीदने या किसी असंबंधित सर्विस के लिए सब्सक्राइब करने या साइन अप करने या पर्सनल डिटेल शेयर करने के लिए मजबूर किया जाता है।"

इसी तरह, CCPA ने केवल उद्योग के लिए गाइडेंस में प्रदान करने के लिए 13 डार्क पैटर्न बताए हैं। शुरुआत में, सीसीपीए ने 10 डार्क पैटर्न की पहचान की थी लेकिन सार्वजनिक परामर्श के बाद अन्य तीन को शामिल किया गया।

(कवर फोटो क्रेडिट-livemint)

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें