Hindi Newsगैजेट्स न्यूज़google offer 3 month free trial of its ai chatbot google bard advanced - Tech news hindi

Google का गिफ्ट: 3 महीने फ्री में यूज करें एआई चैटबॉट Bard Advanced

Google अपने एआई चैटबॉट Bard के एडवांस्ड वर्जन पर काम कर रहा है, जिसे "Bard Advanced" के नाम से जाना जाता है। गूगल इसे 3 महीने फ्री में ट्राई करने की सुविधा दे रहा है। डिटेल में पढ़ें

Arpit Soni लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीSat, 6 Jan 2024 01:55 PM
हमें फॉलो करें

Google अपने एआई चैटबॉट Bard के एडवांस्ड वर्जन पर काम कर रहा है, जिसे "Bard Advanced" के नाम से जाना जाता है। गूगल इसे 3 महीने फ्री में ट्राई करने की सुविधा दे रहा है। बता दें कि गूगल का नया लार्ज लैंग्वेज मॉडल जेमिनी अल्ट्रा से लैस है और यह एडवांस्ड वर्जन, Google One पर पेड सब्सक्रिप्शन से माध्यम से उपलब्ध होने के लिए तैयार है। 'बार्ड एडवांस्ड' को एन्हांस्ड मैथ्स और रिजनिंग स्किल के साथ एक अधिक कैपेबल लार्ज लैंग्वेज मॉडल के रूप में जाना जाता है। इसके फीचर अभी भी डेवलप हो रहे हैं और यूजर बार्ड के साथ अलग-अलग विषयों और क्षमताओं का पता लगाने की उम्मीद कर सकते हैं।

उपलब्धता और सब्सक्रिप्शन
गूगल ने Google One के माध्यम से 'बार्ड एडवांस्ड' का 3 महीने का फ्री ट्रायल पेश करने की योजना बनाई है। यह सब्सक्रिप्शन बेस्ड सर्विस बताती है कि यूजर्स को बार्ड के एडवांस्ड फीचर्स तक कंटीन्यू एक्सेस के लिए भुगतान करना होगा।

डेवलपर्स टूल
पिछले महीने, गूगल ने एडवांस्ड एप्लिकेशन बनाने के लिए डेवलपर्स और एंटरप्राइजेज के लिए अपना लार्ज लैंग्वेज मॉडल जेमिनी प्रो पेश किया था। कंपनी ने गूगल एआई स्टूडियो भी लॉन्च किया, जो डेवलपर्स के लिए एक फ्री वेब बेस्ड टूल है, जो ऐप डेवलपमेंट के लिए तेजी से प्रॉम्प्ट जनरेट करने और एपीआई-की प्राप्त करने के लिए है।

जेमिनी प्रो एक्सेस
डेवलपर्स के पास गूगल एआई स्टूडियो के माध्यम से जेमिनी प्रो और जेमिनी प्रो विजन तक फ्री एक्सेस है। इस एक्सेस में प्रति मिनट 60 रिक्वेस्ट शामिल हैं, जो अधिकांश ऐप डेवलपमेंट आवश्यकताओं को पूरा करते हैं।

कंपनी की फ्यूचर प्लान
गूगल ने भविष्य के लिए अपनी योजनाओं की रूपरेखा तैयार की है, जिसमें आने वाले साल में जटिल कामों के लिए सबसे कैपेबल मॉडल जेमिनी अल्ट्रा का लॉन्च भी शामिल है। कंपनी का लक्ष्य आधिकारिक रिलीज से पहले इसे दुरुस्त करना, सेफ्टी-टेस्टिंग करना और पार्टनर्स से फीडबैक इकट्ठा करना है। इसके अलावा, गूगल का इरादा जेमिनी को क्रोम और फायरबेस जैसे अधिक डेवलपर प्लेटफार्म्स तक विस्तारित करने का है।

 

(कवर फोटो क्रेडिट-simplilearn)

ऐप पर पढ़ें