DA Image
7 जुलाई, 2020|11:59|IST

अगली स्टोरी

Google Maps में आया नया फीचर, Plus Codes से शेयर कर पाएंगे लोकेशन

गूगल मैप्स में नया फीचर शामिल किया गया है, जिसमें यूजर्स अपनी लोकेशन प्लस कोड की मदद से साझा कर सकेंगे। प्लस कोड डिजिटल एड्रेस है, जो latitude और longitude की मदद से पता बताता है। बतताते चलें कि यह प्लस कोड का विकल्प गूगल मैप्स पर साल 2015 से मौजूद है। हालांकि इन शेयर कोड को अब और आसान बनाया गया है  

कोड्स की मदद से यूजर्स आसानी से अपना अड्रेस या कोई लोकेशन दूसरों के साथ शेयर कर पाएंगे। इसमें यूजर्स के लोकेशन पॉइंट (लैटीट्यूड और लॉन्गीट्यूड) के हिसाब से छह डिजिट का एक कोड तैयार होगा, जिसे शेयर किया जा सकेगा। ऐसे में उन जगहों पर भी लोग आसानी से पहुंच सकेंगे, जिनके लिए प्रॉपर स्ट्रीट अड्रेस या फ्लैट नंबर नहीं दिए गए हैं।

एंड्रॉयड उपयोगकर्ताओं के लिए यह नया फीचर कुछ सप्ताह में जारी कर दिया जाएगा। इसे इस्तेमाल करने के लिए मैप्स एप का लेटेस्ट वर्जन आपको इंस्टॉल करना होगा। बताते चलें कि यह यूजर्स का पर्सनल 'Plus Code' मैप पर अपनी लोकेशन के लिए दिखाए जा रहे ब्लू डॉट पर टैप करने पर दिखाई देगा। इस कोड को किसी के साथ शेयर किया जा सकेगा और गूगल मैप्स के अलावा गूगल सर्च विंडो में भी यह कोड एंटर करने पर आपकी लोकेशन सामने वाले को मिल जाएगी।

ऑफलाइन भी मिलेंगे कोड
गूगल के मुताबिक,  'एक प्लस कोड सिंपल अल्फान्यूमेरिक कोड है, जिसे किसी लोकेशन के साथ कंबाइन किया जा सकता है। यह एक शॉर्ट कोड के रूप में होता है। अगर यूजर किसी और लोकेशन का प्लस कोड पता करना चाहे, जहां पर वह मौजूद नहीं है तो मैप पर एक पिन ड्रॉप करने के बाद किसी लोकेशन का प्लस कोड पता किया जा सकेगा। गूगल का कहना है कि प्लस कोड ऑफलाइन भी उपलब्ध होंगे और यह सिस्टम ओपन सोर्स टेक्नॉलजी पर बेस्ड है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Google Maps new feature Share location using Plus Codes