फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ गैजेट्सWhatsApp-Telegram पर भूलकर भी न भेजें ऐसे मैसेज, सरकार की नई गाइडलाइंस

WhatsApp-Telegram पर भूलकर भी न भेजें ऐसे मैसेज, सरकार की नई गाइडलाइंस

सरकार ने अपने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा है कि व्हाट्सएप और टेलीग्राम जैसे सोशल मीडिया ऐप्स पर किसी प्रकार की गोपनीय जानकारी या दस्तावेज साझा ना करें। केंद्र सरकार ने नई कम्यूनिकेशन गाइडलाइन्स...

WhatsApp-Telegram पर भूलकर भी न भेजें ऐसे मैसेज, सरकार की नई गाइडलाइंस
Vishal Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 23 Jan 2022 04:19 PM

इस खबर को सुनें

सरकार ने अपने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा है कि व्हाट्सएप और टेलीग्राम जैसे सोशल मीडिया ऐप्स पर किसी प्रकार की गोपनीय जानकारी या दस्तावेज साझा ना करें। केंद्र सरकार ने नई कम्यूनिकेशन गाइडलाइन्स भी जारी की हैं। इसमें सभी सरकारी कर्मचारियों को व्हाट्सएप, टेलीग्राम और दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर कॉन्फिडेंशियल इनफॉरमेशन शेयर न करने के निर्देश दिए गए हैं।

इसके पीछे की वजह है कि इन ऐप्स के सर्वर दुनिया भर की प्राइवेट कंपनियों के पास हैं और भारत विरोधी ताकतें जानकारी का दुरुपयोग कर सकती हैं। गाइडलाइंस के मुताबिक, वर्क फ्रॉम होम के दौरान कर्मचारी सिर्फ ऑफिस ऐप्लीकेशन के जरिए ही कनेक्ट होने चाहिए। यह आदेश Amazon Alexa, Apple HomePod, Google Meet, और Zoom जैसे ऐप्स पर भी लागू होता है। 

यह भी पढ़ें: नहीं देखें होंगे इतने सस्ते पोस्टपेड प्लान! कीमत 199 से शुरू, 4 लोग कर पाएंगे इस्तेमाल

व्हाट्सएप, टेलीग्राम और अन्य सोशल मीडिया ऐप पर यह आदेश वर्तमान सिस्टम में खामियों को एनालाइज करने के बाद आया है। केंद्र ने क्लासीफाइड इनफॉरमेशन लीक से बचने के लिए नेशनल कम्यूनिकेशन नॉर्म्स और सरकारी निर्देशों के लगातार उल्लंघन के चलते खुफिया एजेंसियों द्वारा बनाई गई एक नई कम्यूनिकेशन गाइडलाइन जारी की हैं। सभी मंत्रालयों को ऐसे उल्लंघनों को रोकने के लिए "तत्काल कदम" उठाने और दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया गया है।

यह भी पढ़ें: Zoom हो या Google Meet, वीडियो कॉल पर सिर्फ आप दिखेंगे 'स्टार', ट्राई करें ये 5 टिप्स

स्मार्टवॉच या स्मार्टफोन के इस्तेमाल पर भी रोक
निर्देशों में कहा गया है कि कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम के दौरान अपने होम सेटअप से सेसेंटिव जानकारी या डॉक्यूमेंट भेजने से बचना चाहिए। इसके अलावा, होम सिस्टम को सिर्फ राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) के वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क के जरिए से ऑफिस नेटवर्क से जोड़ा जाना चाहिए। नई गाइडलाइंस के मुताबिक, सभी केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों के शीर्ष अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जब गोपनीय या राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की जाए तो बैठकों के दौरान स्मार्टवॉच या स्मार्टफोन का उपयोग न करें।

epaper