DA Image
10 जुलाई, 2020|7:51|IST

अगली स्टोरी

COVID-19: लॉकडाउन की चुनौतियों को सरल बना रहीं ये तकनीक

how tech helps in lockdown

कोरोना वायरस की लड़ाई में तकनीकी बेहद अहम रोल अदा कर रही है। दुनियाभर के इंजीनियरों ने तकनीक के जरिए अस्पतालों से लेकर हमारे घरों तक में सहूलियत भरी है। आज राष्ट्रीय तकनीक दिवस के अवसर पर जानते हैं कि लॉकडाउन के इस वक्त में तकनीक किस तरह हम सभी की संक्रमण से सुरक्षा में मदद कर रही है। साथ ही सामाजिक दूरी का पालन करते हुए हम किस तरह तकनीकी के इस्तेमाल के कारण पूरी दुनिया से जुड़े हैं।


वीडियो कॉल : अपनों से संवाद जारी रहे अनिवार्य क्वारंटाइन ने पूरी दुनिया के पांचवे हिस्से का सामाजिक संवाद प्रभावित किया है। पर इस दौरान वीडियो कॉलिंग जैसी तकनीक लोगों के लिए अपनों से जुड़ने का जरिया बन गई। सामाजिक दूरी बनाते हुए वर्चुअल रियलिटी से शादियां तक हो रही हैं।

 

ई-मेडिकल : अस्पताल के संक्रमण से बचाव अस्पतालों पर बोझ कम करने और कोरोना के संक्रमण से मरीजों की सुरक्षा के लिए टेली व ई-मेडिकल सुविधाएं शुरू हुई हैं। दवाओं तक की होमडिलीवरी से सलूलियत मिल रही है। कई ऑनलाइन साइकोलॉजिकल काउंसलिंग सेवाएं भी शुरू हुई हैं।

 

ई-लर्निंग : ताकि बच्चों की पढ़ाई ने छूटे स्कूल बंदी के कारण बच्चों को घर से पढ़ाने की पहल शुरू हुई, जिसमें व्हाट्सएप से लेकर ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म अहम भूमिका निभा रहे हैं। शैक्षिक संस्थान लाइव स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिसमें शिक्षक घर बैठे लेक्चर देते हैं।
 

वर्क फ्रॉम होम : घर से काम करने का मौका लॉकडाउन में घर से काम करना सबसे बड़ी चुनौती है, जिसे ऑनलाइन मीटिंग सॉफ्टवेयर, कोलैबोरेशन प्लेटफॉर्म आदि ने आसान बना दिया। शैक्षिक सेमिनार से लेकर कई तरह के व्यवसाय से जुड़े आयोजन व बैठकें वीडियो कांफ्रेसिंग से हो रही हैं।

 

मोबाइल एप : लॉकडाउन में सबसे गहरी दोस्त बाहरी वातावरण में जाने से रोकने में स्मार्टफोन और कई एप्लीकेशन बहुत मददगार साबित हुई हैं। लोग ऑनलाइन डिलीवरी व ई-पेमेंट एप का इस्तेमाल कर रहे हैं। कांटेक्ट ट्रेसिंग आधारित एप के जरिए उन्हें कोरोना के स्थानीय मामलों का पता लग रहा है।

 

फर्जी सूचनाओं से बचा रही तकनीक
पूरी दुनिया में इस वक्त कोरोना वायरस खबरों का केंद्र बिंदु है। ऐसे में वायरस, उसके खतरे, बचाव से लेकर दवाओं तक से जुड़ी फर्जी सूचनाएं फैलाकर कमाई की जा रही है। ऐसे में तकनीक के जरिए लिखित व दृश्य सामग्री की तह तक पहुंचा जा रहा है, यह काम मीडिया, टेक कंपनियां, सरकार व वैश्विक एजेंसियां कर रही हैं ताकि लोग भ्रमित न हों।

ड्रोन : लॉकडाउन के दौरान पेट्रोलिंग के जरिए यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि लोग पहन रहे हैं या नहीं। साथ ही लोगों का तापमान लेने से लेकर डिसइंफेक्ट करने तक इसका प्रयोग हो रहा है।

एआई उपचार 
अस्पताल को संक्रमण रहित करने से लेकर कोरोना मरीज तक दवा पहुंचाने और उपचार करने के काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वाले रोबोट के जरिए भी कराए जा रहे हैं, जिनका सीधा लाभ मरीजों को कम समय में बेहतर इलाज के रूप में मिल रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:COVID-19: These technologies are simplifying the challenges of lockdown