फोटो गैलरी

Hindi News गैजेट्सफोल्डेबल फोन की तैयारी में Apple, आईफोन 13 में होगा इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर

फोल्डेबल फोन की तैयारी में Apple, आईफोन 13 में होगा इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर

सैमसंग, मोटोरोला और हुवावे जैसी कंपनियां फोल्डेबल स्मार्टफोन्स ला चुकी हैं। ऐसे में दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनी एप्पल भी इस दौड़ में शामिल होना चाहती है। रिपोर्ट की मानें तो एप्पल ने फोल्डेबल आईफोन के...

फोल्डेबल फोन की तैयारी में Apple, आईफोन 13 में होगा इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर
लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 16 Jan 2021 09:56 PM
ऐप पर पढ़ें

सैमसंग, मोटोरोला और हुवावे जैसी कंपनियां फोल्डेबल स्मार्टफोन्स ला चुकी हैं। ऐसे में दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनी एप्पल भी इस दौड़ में शामिल होना चाहती है। रिपोर्ट की मानें तो एप्पल ने फोल्डेबल आईफोन के लिए तैयारी शुरू कर दी है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कंपनी भविष्य में आने वाले आईफोन के लिए फोल्डेबल और फ्लेक्सिबल स्क्रीन को खोज रही है। Bloomberg के मुताबिक, फिलहाल कंपनी का यह प्लान अपनी शुरुआती चरण में है और यह 2021 में आने वाले आईफोन के लिए नहीं है।  

सैमसंग के गैलेक्सी फोल्ड, मोटोरोला रेजर और हुवावे Mate X की तर्ज पर एप्पल को भी ऐसा फोल्डेबल फोन बनाना होगा, जो फोल्ड होकर साइज में एक पॉकेट-फ्रेंडली डिवाइस बन जाए। फिलहाल एप्पल ढेर सारे स्क्रीन साइज पर विचार कर रही है। इनमें से एक स्क्रीन साइज 6.7 इंच का है, जो आईफोन 12 प्रो मैक्स जितना है। आजकल के फोल्डेबल फोन 6 से 8 इंच की स्क्रीन वाले हैं। 

यह भी पढ़ें: 48MP कैमरा और 5,000mAh बैटरी वाला Oppo A93 5G लॉन्च, जानें कीमत

iPhone 13 में होगा डिस्प्ले में फिंगरप्रिंट सेंसर
पिछले साल लॉन्च हुई आईफोन 12 सीरीज के जरिए कंपनी ने नई डिजाइन लैंग्वेज पेश की है, जिसमें फ्लैट किनारे और बॉक्सी लुक देखने को मिला है। इस बार भी कंपनी आईफोन 13 में इसी डिजाइन का इस्तेमाल करने जा रही है। हालांकि सबसे बड़ा बदलाव फिंगरप्रिंट सेंसर का रहेगा। आईफोन 13 में एप्पल फिंगरप्रिंट सेंसर डिस्प्ले के भीतर देने जा रही है। यह फीचर अधिकतर एंड्रॉइड स्मार्टफोन में काफी पहले से आ रहा है। 

यह भी पढ़ें: सबसे सस्ते 5G स्मार्टफ़ोन Moto G 5G की कीमत में कटौती, जानें नया दाम

बता दें कि फिलहाल कंपनी नए मॉडल्स से TouchID को हटा चुकी है। आईफोन यूजर्स के पास पासकोड और फेसआईडी का ही विकल्प रहता है। हालांकि कोरोना महामारी के कारण लोगों को मास्क का इस्तेमाल करना पड़ रहा है और ऐसे में फेसआईडी ऑप्शन किसी काम का नहीं रह जाता। शायद यही वजह है कि कंपनी को फिंगरप्रिंट ऑप्शन पर फिर से विचार करना पड़ रहा है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें