DA Image
27 सितम्बर, 2020|11:34|IST

अगली स्टोरी

मोबाइल नंबर से ओएलएक्स पर बनेगा अकाउंट, ट्रस्ट स्कोर देखकर करें लेन-देन

ठगी को रोकने के लिए गुरुग्राम पुलिस की पहल पर ओएलएक्स ने नियम और शर्तो में बदलाव किया है। जिससे ठगी में कमी आएगी और लेन-देन करने वालों को ओएलएक्स जागरूक भी करेगा। ओएलएक्स पर नया अकाउंट ई-मेल आईडी से नहीं बनेगा। अब अकाउंट मोबाइल नंबर से ही बनेगा। ओएलएक्स पर अब हर अकाउंट का ट्रस्ट स्कोर भी तैयार किया जाएगा। ट्रस्ट स्कोर से ही पता चलेगा कि अकाउंट सही व्यक्ति का है और उसका केवाईसी भी पूरा है। ट्रस्ट स्कोर देखकर ही लेन-देन करेंगे। उससे ठगी होने से बचेंगे।

गुरुग्राम पुलिस के आंकड़ों के अनुसार ओएलएक्स पर इस साल के आठ महीनों में जालसाजों ने 450 लोगों को शिकार बनाया। सामान खरीदने और बेचने के नाम पर जालसाजों ने लोगों से 30 लाख रुपये की ठगी कर डाली। ओएलएक्स ने यह सब बदलाव हाल ही में गुरुग्राम पुलिस की डीसीपी नीतिका गहलौत के साथ हुई बैठक के बाद हुए है। 

नीतिका गहलौत, डीसीपी मुख्यालय ने बताया कि किसी अकाउंट से धोखाधड़ी हुई है,तो अकाउंट को ब्लॉक कर दिया जाएगाओएलएक्स पर काफी लोगों के साथ ठगी हो चुकी है। ऐसे में ओएलएक्स के अधिकारियों के साथ बैठक कर उनको कुछ बदलाव करने के लिए कहा। उन्होंने कुछ बदलाव कर भी दिए हैं। इन बदलाव से ठगी में कमी आएगी। इसके अलावा लोगों को भी ओएलएक्स पर सामान खरीदने और बेचने के लिए अकाउंट का ट्रस्ट स्कोर देखें। उसके बाद ही किसी भी तरह का लेन-देन करें। जूही सिंह, लीगल टीम ओएलएक्स कहती हैं कि ओएलएक्स टीम ने गुरुग्राम पुलिस के साथ हुई बैठक के बाद कुछ बदलाव किए हैं। जिनमें अब हर अकाउंट का ट्रस्ट स्कोर बनेगा। इसके अलावा अब नया अकाउंट ई-मेल से नहीं बनेगा। मोबाइल नंबर से बनेगा और मोबाइल नंबर की भी वह खुद जांच करेंगे। नया अकाउंट बनाने के दौरान फोटो भी समय के साथ अपलोड होगी।

ठगी करने वाले अकाउंट को बंद करेगा ओएलएक्स
ओएलएक्स टीम अब एक मोबाइल नंबर से एक ही अकाउंट बनेगा। जबकि इससे पहले कई अकाउंट बन जाते थे। इसके अलावा अगर अकाउंट से ठगी हुई है, तो उस अकाउंट की जानकारी मिलते ही ब्लॉक कर दिया जाएगा। नया अकाउंट बनाते समय फोटो समय के साथ अपलोड करनी भी होगी। केवाईसी के आधार पर अकाउंट को ट्रस्ट स्कोर दिया जाएगा। इसके अलावा कार खरीदने और बेचने के दौरान लोगों को ओएलएक्स की तरफ से जागरूक भी किया जाएगा।

रोजाना दो लोगो से हुई ठगी:
गुरुग्राम पुलिस के आंकड़ों के अनुसार जिले में रोजाना जालसाज फोन कर ओएलएक्स पर सामान बेचने और खरीदने के नाम पर लोगों से ठगी करते हैं। जनवरी से लेकर अगस्त 2020 तक जालसाजों ने 450 लोगों के साथ ठगी की गई। इन लोगों ने पुलिस से ठगी की शिकायत की। इसके अलावा काफी सारे लोग वह भी हैं। हालांकि पुलिस इन सभी शिकायतों में से 17 मामलें दर्ज किए हैं। जबकि बाकी शिकायतों में पुलिस ने पूरी जांच की गई, लेकिन उनमें फर्जी मोबाइल नंबर, फर्जी अकाउंट नंबर मिला। इसके कारण आरोपियों तक पुलिस नहीं पहुंच पाई।

क्यूआर कोड नहीं करें स्कैन
साइबर थाने में तैनात मुख्य सिपाही संदीप ने बताया कि जालसाज ओएलएक्स पर सामान खरीदने की पूरी बात करने के बाद लोगों को एडवांस पेमेंट करने के बहाने क्यूआर कोड भेजते हैं। पहले क्यूआर कोड को स्कैन करने के बाद खाते में पांच से दस रुपये आते हैं। उनको विश्वास में लेने के बाद जालसाज दोबारा से क्यूआर कोड भेजते हैं। कोड को स्कैन करने या फिर उस पर पे का बटन दबाने के बाद रुपये आने के बजाए खाते से निकल जाते है। किसी ने भी क्यूआर कोड भेजा हो। उसको कभी भी स्कैन नहीं करना चाहिए।

ओएलएक्स ने इन प्वाइंट्स में किया बदलाव:
-हर अकाउंट का ट्रस्ट स्कोर बनाया

-एक मोबाइल नंबर से एक ही अकाउंट चलेगा

-हर अकाउंट को केवाईसी के दस्तावेजों के आधार पर रैटिंग दी जाएगी

-नया अकाउंट बनाने वाले को अपनी फोटो भी करनी होगी अपलोड

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Account will be created on OLX with mobile number do transaction by looking at trust score