Aadhar Card is necessary for Jio 4g feature phone - नहीं है ये डॉक्यूमेंट तो आपको नहीं मिलेगा Jio 4जी फोन, जानें कैसे कर सकते हैं बुक 1 DA Image
21 नबम्बर, 2019|1:54|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं है ये डॉक्यूमेंट तो आपको नहीं मिलेगा Jio 4जी फोन, जानें कैसे कर सकते हैं बुक

ये लोग नहीं खरीद पाएंगे Jio 4जी फोन, जल्द शुरू हो रही है बुकिंग
ये लोग नहीं खरीद पाएंगे Jio 4जी फोन, जल्द शुरू हो रही है बुकिंग

मोबाइल फोन यूजर्स रिलायंस जियो के 4जी फीचर फोन का इस्तेमाल बेसब्री से कर रहे हैं। जियो फीचर फोन की बीटा टेस्टिंग कंपनी ने 15 अगस्त से शुरू भी कर दी है। वहीं, ऑनलाइन बुकिंग कराने के लिए ग्राहकों को 24 अगस्त का इस्तेमाल करना होगा। 

रिलायंस जियो के 4जी फीचर फोन को खरीदने के लिए ग्राहक को आधार कार्ड की जरूरत होगी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जिन ग्राहकों के पास आधार कार्ड नहीं होगा, ऐसे लोग जियो फीचर फोन नहीं खरीद पाएंगे। आधार कार्ड बतौर डॉक्यूमेंट की तरह जरूरी होगा। 

सितंबर से शुरू होगी जियो 4जी फीचर फोन की डिलिवरी

रिलांयस जियो 4जी फीचर फोन की डिलिवरी पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर होगी। कंपनी बता चुकी है कि सितंबर महीने से फोन की डिलिवरी शुरू हो जाएगी। अगली स्लाइड में पढ़ें: जानें कैसे बुक कर सकते हैं जियो फोन

ये भी पढ़ें: Jio का धमाल: 4जी फोन की बुकिंग जल्द होगी शुरू, ऐसे करें रजिस्टर

जानें कैसे बुक कर सकते हैं जियो फोन
जानें कैसे बुक कर सकते हैं जियो फोन

- रिलांयस जियो 4जी फीचर फोन की बुकिंग करने के लिए सबसे पहले यूजर्स को जियो की आधिकारिक वेबसाइट www.jio.com पर जाना होगा। इसके बाद वहां कीप मी पोस्टेड पर क्लिक करना होगा। 

- वहां पर ग्राहक से कुछ डीटेल्स पूछी जाएंगी। जैसे- खुद के लिए फोन लेना है या बिजनेस के लिए। बता दें कि सामान्य ग्राहकों को एक ही फोन मिल सकेगा। वहीं, बिजनेस के लिए ले रहे लोगों को एक से अधिक फोन मिल सकेगा। 

- वेबसाइट पर आपका नाम, ईमेल आईडी, फोन नंबर, पिन कोड आदि जैसी जानकारियां मांगी जाएंगी। 

- रजिस्ट्रेशन करने के बाद कंपनी ग्राहकों को जियो फोन के बारे में एसएमएस और ईमेल के माध्यम से जानकारी देती रहेगी।  

फोन के लिए चुकानी होगी इतनी कीमत
फोन के लिए चुकानी होगी इतनी कीमत

जियो फीचर फोन की प्रभावी कीमत 'शून्य' रखी गई है यानी जियो फोन उपभोक्ताओं को मुफ्त मिलेगा। हालांकि जियो उपभोक्ताओं को  सिक्योरिटी मनी के तौर पर 1500 रुपये चुकाने होंगे। ये धनराशि तीन साल बाद फोन लौटाने पर वापस भी मिल जाएंगे।