DA Image

अगली स्टोरी

सुशील कुमार मोदी

सुशील कुमार मोदी वर्तमान में बिहार के उपमुख्यमंत्री हैं। जुलाई 2017 से वह इस पद पर हैं। वर्ष 2005-2013 तक वे बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री भी रहे हैं। वह 2011 से जीएसटी क्रियान्वयन के लिए बनी राज्य वित्त मंत्रियों की प्राधिकार समिति के अध्यक्ष भी हैं।

राजनीतिक सफर

1990 में वह पटना केंद्रीय विधानसभा (अब कुम्हार क्षेत्र) से चुनाव लड़े। 1990 में उन्हें भाजपा बिहार विधानसभा दल का मुख्य सचेतक बनाया गया। 1996 से 2004 तक वह राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता थे। 2004 में वह भागलपुर के निर्वाचन क्षेत्र से जीतकर लोकसभा पहुंचे। 2017 में बिहार में जेडीयू-आरजेडी महागठबंधन के पतन के पीछे उनकी राजनीतिक कुशलता की भूमिका मानी जाती है। वह बिहार के तीसरे उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री भी रह चुके हैं। सुशील मोदी का व्यक्तित्व जुनूनी है, यह बात इस तरह स्पष्ट होती है कि 1962 में भारत-चीन युद्ध के दौरान युवा मोदी इतने सक्रिय थे कि उन्हें सिविल डिफेंस का कमांडेंट नियुक्त किया गया। वह स्कूलों में जाकर विद्यार्थियों को परेड का प्रशिक्षण देते और किसी भी खतरे के लिए तैयार कराने में अपना योगदान दे रहे थे। इस समय ही वह आरएसएस से जुड़ गए और वहां से उनका जीवन राजनीति की ओर मुड़ गया। 

प्रारंभिक जीवन

लोकनायक जयप्रकाश नारायण के संपूर्ण क्रांति आंदोलन या जेपी आंदोलन ने भारतीय राजनीति को कई दिग्गज नेता दिए। सुशील कुमार मोदी इस आंदोलन की ही उपज हैं। खास बात यह है कि इस आंदोलन से ही लालू यादव को सुशील कुमार मोदी ने बिहार की राजनीति से उखाड़ फेंकने का काम किया। असल में जिस चारा घोटाले के कारण लालू यादव को अपनी संसद सदस्यता गंवानी पड़ी, उस घोटाले के संबंध में पहली जनहित याचिका सुशील कुमार मोदी ने ही अदालत में दायर की थी। 

जन्म व शिक्षा 

सुशील कुमार मोदी का जन्म 5 जनवरी 1952 को बिहार की राजधानी पटना में हुआ था। उनके पिता मोती लाल मोदी का रेडीमेड कपड़ों का बड़ा कारोबार था। वह चाहते थे कि उनके बेटे परिवार के काम में हाथ बंटाएं पर सुशील मोदी ने दूसरी राह चुनी।

  • 1
  • of
  • 179162

माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

  • 1
  • of
  • 179162

माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

  • 1
  • of
  • 179162

पप्पू को कोई मरने नहीं देता

पप्पू परेशान होकर अपने फेकू से: कहां मरूं मैं, कोई मरने ही नहीं देता.. 

फेकूः क्यों क्या हुआ? 



पप्पूः किसी लड़की को बोलता हूं कि तुम पर मरता हूं तो ब्लॉक कर देती हैं।