फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजन टीवीKhatron Ke Khiladi 12: रुबीना दिलैक को मात नहीं दे पाईं ये कंटेस्टेंट, होना पड़ा बाहर

Khatron Ke Khiladi 12: रुबीना दिलैक को मात नहीं दे पाईं ये कंटेस्टेंट, होना पड़ा बाहर

‘खतरों के खिलाड़ी 12’ में बीते हफ्ते ‘टीम वीक’ रहा। कंटेस्टेंट को दो टीमों में बांटा गया। दोनों टीमों के कैप्टेन को ये मौका दिया गया कि वो किसी एक कंटेस्टेंट का नाम लें जो एलिमिनेशन स्टंट करेंगे।

Khatron Ke Khiladi 12: रुबीना दिलैक को मात नहीं दे पाईं ये कंटेस्टेंट, होना पड़ा बाहर
Shrilataलाइव हिंदुस्तान,मुंबईMon, 08 Aug 2022 02:52 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

‘खतरों के खिलाड़ी 12’ (Khatron Ke Khiladi 12) में बीते हफ्ते ‘टीम वीक’ रहा। जहां कंटेस्टेंट को दो टीमों में बांट दिया गया। दोनों टीमों के दो कैप्टेन मोहित मलिक और तुषार कालिया चुने गए। एलिमिनेशन स्टंट भी इस बार अलग हुआ। कैप्टेन को ये मौका दिया गया कि वो किसी एक कंटेस्टेंट का नाम लें जो एलिमिनेशन स्टंट करेंगे। तुषार पांडे ने अपनी टीम से चेतना पांडे का नाम लिया। उन्होंने इसकी वजह बताई कि चेतना को दो स्टंट मिले थे लेकिन वो उसे पूरा नहीं कर पाईं। वहीं मोहित ने कहा कि पूरे सीजन को देखें तो रुबीना दिलैक का नाम लेना चाहते हैं।

रुबीना और मोहित के बीच तकरार


मोहित ने जैसे ही रुबीना का नाम लिया वो हैरान रह जाती हैं। वह कहती हैं कि ‘सीजन के आधार पर मेरा नाम लिया गया। क्या मतलब है कि मैंने कुछ किया ही नहीं है?‘ मोहित के इस फैसले को तुषार की टीम के सदस्य गलत बताते हैं लेकिन मोहित ने कहा कि ये उनका फैसला है कौन क्या कहता है इससे उन्हें फर्क नहीं पड़ता।

अबॉर्ट किया शो


एलिमिनेशन में अंडर वाटर स्टंट करना था। इस स्टंट को करने सबसे पहले रुबीना दिलैक जाती हैं। कंटेस्टेंट को पानी के अंदर एक टम्बलर में लगे 10 फ्लैग को निकालना होता है। स्टंट के बाद रुबीना की तबीयत बिगड़ने लगती है और उन्हें मेडिकल के लिए ले जाया जाता है। रुबीना के बाद चेतना पांडे ने स्टंट किया। वह स्टंट पूरा नहीं कर पातीं और बीच में ही वह अबॉर्ट कर देती हैं। 
 

चेतना ने शो को कहा अलविदा


आखिर में रोहित ने बताया कि रुबीना ने पूरे 10 फ्लैग निकाले और स्टंट पूरा किया। चेतना ने 6 फ्लैग निकाले और अबॉर्ट कर दिया। इस तरह चेतना का सफर यहीं खत्म हो गया और वह बाहर हो गईं।

epaper