फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजन टीवी'लड़ते-लड़ते थक गई हूं', ब्रेस्ट कैंसर सर्जरी के दो महीने पूरे हो जाने पर छवि मित्तल ने कही दिल की बात

'लड़ते-लड़ते थक गई हूं', ब्रेस्ट कैंसर सर्जरी के दो महीने पूरे हो जाने पर छवि मित्तल ने कही दिल की बात

छवि मित्तल एक कैंसर सर्वाइवर है। कुछ समय पहले ही छवि ने ब्रेस्ट कैंसर से जिंदगी की जंग जीत ली है। हाल ही में छवि की सर्जरी को दो महीने पूरे हुए हैं और उन्होंने अपने दिल की बात कही है।

'लड़ते-लड़ते थक गई हूं', ब्रेस्ट कैंसर सर्जरी के दो महीने पूरे हो जाने पर छवि मित्तल ने कही दिल की बात
Shubhangi Guptaलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीMon, 27 Jun 2022 04:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

छवि मित्तल (Chhavi Mittal) एक कैंसर सर्वाइवर है। कुछ समय पहले ही छवि मित्तल ने ब्रेस्ट कैंसर से जिंदगी की जंग जीत ली है। इस दौरान छवि सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं और खुद से जुड़ी हर अपडेट फैंस के साथ शेयर करती हैं। कैंसर का पता चलने से लेकर ऑपरेशन थिएटर तक, छवि ने हर एक अपडेट फैंस के साथ बेझिझक शेयर की है। छवि की हिम्मत को सभी ने सराहा था। छवि ने रेडिएशन थेरेपी भी ली थी और अब घर पर ही रिकवर हो रही हैं। अपने बुरे दिनों को याद करते हुए छवि का मानना है कि केवल एक कैंसर सर्वाइवर ही उसके दर्द और संघर्ष को समझ सकता है। हाल ही में छवि की कैंसर सर्जरी को दो महीने पूरे हुए हैं।

काश ऐसा होता...

अपनी एक खूबसूरत और रिफ्रेशिंग तस्वीर के साथ छवि मित्तल ने अपनी दिल की बातें कही हैं। छवि लिखती हैं, 'कभी-कभी मुझे लगता है कि कितना अच्छा होता कि लोग आपके चेहरे को देखकर ही समझ जाते कि आप ठीक नहीं हैं लेकिन असल में ऐसा कम ही होता है या फिर नहीं होता है। एक यात्री ही जानता है उसके पैरों के छालों के दर्द के बारे में, एक प्रेमी ही अपने दिल में छुपे दर्द को महसूस कर सकता है और केवल एक योद्धा ही जानता है कि वो हर दिन, हर पल किस संघर्ष से गुजरता है।'

लड़ते-लड़ते थक गई हूं

छवि आगे लिखती हैं, 'मेरे ब्रेस्ट कैंसर सर्जरी को दो महीने पूरे हो चुके हैं और पिछले कुछ दिनों में एक मां की तरह, गर्भवती होने के कारण, बेहतर महसूस करने के लिए, उन चीजों को करने में सक्षम होने के लिए अधीर हो रही हूं जो मैं पहले से करती आ रही थी।भीतर से मुस्कुराने में सक्षम होने के लिए, दिल से मुस्कुराने के लिए और थक गई हूं यह समझने के लिए कि मेरा शरीर क्या कर सकता है और क्या नहीं। लड़ते-लड़ते मैं थक गई हूं लेकिन कुछ ऐसी लड़ाइयां होती हैं जिन्हें अकेले ही लड़ना होता है।'

गौरतलब है कि छवि मित्तल को चेस्ट पर चोट लगने के बाद कैंसर होने का पता चला था। वर्कआउट के दौरान छवि को चोट लगी और चेकअप के दौरान उन्हें ब्रेस्ट कैंसर होने के बारे में पता चला। इसके बाद छवि ने फौरन अपना इलाज शुरू करवा दिया। अब वह जिंदगी की इस जंग को जीत चुकी हैं और रिकवरी स्टेज में हैं। यह भी पढ़ें: Chhavi Mittal कैंसर को हराने के लिए सुबह से लेकर शाम तक खाती हैं ये फूड्स, चीनी को सख्त ना

epaper