Hindi NewsEntertainment NewsTvAnupamaa 10 Nov: कामयाब हुई मालती देवी की चाल, अनुपमा ने बजाया पाखी का बैंड, सुनाई खरी-खोटी

Anupamaa 10 Nov: कामयाब हुई मालती देवी की चाल, अनुपमा ने बजाया पाखी का बैंड, सुनाई खरी-खोटी

Anupama Written Update 10 November: अनुपमा के आज के एपिसोड में देखने को मिलेगा कि मालती देवी पर अनुपमा सवाल दागेगी लेकिन गुरु मां उलटा ही सुना देगी और पाखी के खिलाफ भर देगी। जानें क्या कुछ होगा...

Anupamaa 10 Nov: कामयाब हुई मालती देवी की चाल, अनुपमा ने बजाया पाखी का बैंड, सुनाई खरी-खोटी
Avinash Singh Pal लाइव हिन्दुस्तान, मुंबईFri, 10 Nov 2023 07:38 AM
हमें फॉलो करें

Anupama Aaj ka Full Episode: अनुपमा के आज के एपिसोड में देखने को मिलेगा कि कैसे आखिर वक्त में अनुपमा, अनु के स्कूल में पहुंच जाती हैं। इसके बाद अनुपमा और अनु ही स्कूल के फंक्शन में हिस्सा लेगी और खूब मस्ती भी होगी। हालांकि अनुपमा के आ जाने से मालती देवी के चेहरे का रंग उड़ जाएगा और उसके चेहरे पर नाराजगी दिखेगी। वहीं दूसरी ओर ऑफिस में अंकुश, अनुज को समझाएगा कि मालती देवी को मां कहना शुरू कर दे। वहीं सास-बहु को लेकर अंकुश-अनुज के बीच हंसी मजाक भी होगा। जानें आज के एपिसोड में आगे क्या होगा...

लीला बेन है उदास
एपिसोड में आगे दिखेगा कि लीला बेन, बापूजी से बात करते दिखेगी कि काव्या को कुछ सोने का देने का मन था, लेकिन पैसों की वजह से ऐसा नहीं हो पाया है। लीला बेन आगे कहेगी, 'जब तक अनुपमा थी, तब तक सब अच्छा था। वहीं समर के जाने के बाद तो सब बिखर गया। हमारी दिवाली इतनी फीकी कभी नहीं रही।' दूसरी ओर कपाड़िया हाउस में देखने को मिलेगा कि अनु-अनुपमा जीत कर वापस आई हैं। इसके बाद अनुपमा, मालती देवी से पूछेगी कि ऐसा क्यों किया? हालांकि मालती देवी इस दौरान एक दम सीधी बनने की कोशिश करेगी।

मालती देवी से अनुपमा का सवाल
बरखा के सामने ही अनुपमा, मालती देवी से कहेगी कि बताया क्यों नहीं? इस पर मालती देवी कहेगा कि भूल गई, क्योंकि उम्र हो गई। हालांकि अनुपमा बहुत ही शालीनता से मालती देवी को समझाएगी। अनुपमा की बात सुनकर, मालती देवी मन में सोचेही-'मेरे बेटे पर मेरा पहला हक क्यों नहीं? जीवनसाथी का हाथ, मां के अधिकार से बड़ा नहीं हो सकता है।' अनुपमा, हाथ जोड़कर कहेगी कि छोटी के जीवन में मेरी जगह लेने की कोशिश मत करिए।

मालती देवी ने डाली अनुपमा-पाखी में फूट
अनुपमा की बात सुनकर मालती देवी कहेगी- 'न मैं कोई चाल चल रही हूं, न कोई साजिश। तूझे विक्टिम कार्ड खेलने की आदत हो गई है। हमेशा मां, मां करती रहती है। ऐसा लगता है कि तेरे अलावा किसी ने बच्चे बड़े ही नहीं किए।'इस बीच  मालती देवी, पाखी को बीच में ले आएगी और कहेगी- 'पाखी, मेरे बेटे के क्रेडिट कार्ड का मिसयूज करती है। फालतू के खर्चे करती है। मैं बताना भूल गई तो गलत, तेरी बेटी करे तो सही, क्योंकि वो तेरी बेटी है।' इससे साफ हो गया है कि मालती देवी ने अनुपमा-पाखी के बीच दरार डाली है। 

अनुपमा ने पाखी का बजाया बैंड
अनुपमा, जब पाखी के कमरे में पहुंचती है तो देखेगी कि वो अपनी दोस्त से बात करते दिखेगी और दिखेगा कि वो अपनी शॉपिंग के बारे में अपने दोस्त को बता रही होगी और उससे कहेगी कि उसने ये शॉपिंग पति के पैसे से नहीं की। बल्कि बडी के पैसे से की है।पाखी दोस्त से कहेगी- 'अगर तुझे कुछ चाहिए हो तो बताना, मेरी मम्मी के हसबैंड बहुत अमीर हैं।'ये सब देख अनुपमा का पारा चढ़ जाता है और वो पाखी को खरी खोटी सुना देती है। अनुपमा, पाखी से कहेगी- 'तमीज से... मम्मी हूं तेरी यार नहीं।' पाखी की फिजूल शॉपिंग पर अनुपमा उसका बैंड बजा देगी। इस पर पाखी कहेगी-आपको मेरी खुशी देखी नहीं जाती है। आपको प्रॉब्लम क्या है, पैसे बडी के हैं, जब उन्हें दिक्कत नहीं तो आप कौन होती हो बोलने वाली।
 

ऐप पर पढ़ें