Hindi NewsEntertainment NewsTvAnupamaa 14 Nov : गुरु मां ने चली अनुज को भड़काने की चाल, लेकिन अनुपमा ने दे दी बड़ी मात

Anupamaa 14 Nov : गुरु मां ने चली अनुज को भड़काने की चाल, लेकिन अनुपमा ने दे दी बड़ी मात

अनुपमा शो में आप देख रहे हैं कि पिछले कुछ समय से गुरु मां पूरी कोशिश कर रही है अनुज और अनुपमा के बीच दरार पैदा करने की। अनुपमा भी गुरु मां की चाल समझती है और उन्हें करारा जवाब देने में लगी हुई है।

Anupamaa 14 Nov :  गुरु मां ने चली अनुज को भड़काने की चाल, लेकिन अनुपमा ने दे दी बड़ी मात
Sushmeeta Semwal लाइव हिंदुस्तान, नई दिल्लीTue, 14 Nov 2023 09:16 AM
हमें फॉलो करें

एपिसोड की शुरुआत होती है अनुपमा और छोटी अनु से जो साथ में दिवाली की तैयारी करते हैं। अनुज भी वहां आता है और अनु को समझाता है कि उन्हें सबके लिए दिल से गिफ्ट्स बनाने होंगे। इसके बाद छोटी अनु बताती है कि उसे मैथ्स में दिक्कत है और फिर अनुज उसके लिए ट्यूशन के बारे में सोचता है। लेकिन अनुपमा मना कर देती है और कहती है कि मैं उस पर ध्यान दूंगी। गुरू मां भी ट्यूशन की बात करती है और अनुज से कहती है कि मैं सही कह रही हूं न। अनुज चुप रहता है और कहीं न कहीं अनुपमा समझ जाती है कि अनुज की चुप्पी क्या कह रही है।

वनराज को मिले ताने
वहीं शाह परिवार भी छोटी दिवाली सेलिब्रेट करता है। बाबू जी, बा के साथ डांस करते हैं और सबका मूड ठीक करने की कोशिश करते हैं। पूरा परिवार खुश होता ही है कि पड़ोसी आकर उन्हें ताना मारते हैं। पड़ोसी कहते हैं कि बेटे की मौत को 2 महीने भी नहीं हुए और अब नाच रहे हो। वनराज को गुस्सा आता है और वह सबसे कहता है कि मेरे बेटे से मैं प्यार करता हूं कि नहीं इसका सर्टिफिकेट मुझे आपसे नहीं चाहिए। मैं छोटी दिवाली मना रहा हूं और बड़ी दिवाली और धूम-धाम से मनाऊंगा। मैं अपने बेटे की याद में नाचूंगा।

गुरु मां की चाल पड़ी भारी
गुरु मां, अनुज को बताती है कि अनुपमा हर किसी के पास जा-जाकर डिलीवरी दे रही थी। गुरु मां को लगा इससे अनुज और अनुपमा के बीच लड़ाई होगी, लेकिन अनुज उल्टा पत्नी का साथ देता है जिसके बाद गुरु मां का मुंह छोटा सा हो जाता है।

वृद्धआश्रम के पेपर्स आए
दिवाली के मौके पर अनुज, वृद्धआश्रम के जमीन के पेपर्स लेकर आते हैं और दोनों बहुत खुश होते हैं। गुरु मां कहती हैं पेपर्स पढ़ तो ले तो अनुज कहता है बॉस अनुपमा है और यह उसका सपना है। इसी बीच बरखा, गुरु मां को भड़काती है। गुरु मां कहती है कि मैं अब शाह परिवार का बैंड बजाऊंगी। 

वहीं बा फैसला करती है कि जो भी कमाई होगी, उसके 3 हिस्से होंगे। वनराज कहता है कि उन्होंने हमारी बहुत मदद की है तो हम उनके पैसे सम्मान के साथ वापस करेंगे। वहीं गुरु मां फैसला करती है कि वह अब अनुज को शाह परिवार और अनुपमा से दूर करके रहेगी।
 

ऐप पर पढ़ें