Hindi NewsEntertainment NewsTvAnupamaa 19 Nov: बा-बापूजी या छोटी अनु, किसे चुनेगी अनुपमा? पाखी की अधिक-डिंपी से होगी तीखी बहस

Anupamaa 19 Nov: बा-बापूजी या छोटी अनु, किसे चुनेगी अनुपमा? पाखी की अधिक-डिंपी से होगी तीखी बहस

Anupama Written Update 19 November: अनुपमा में आज के एपिसोड में काफी ड्रामा होगा। पाखी की अधिक, अनुज और अनुपमा से बहस होगी। इसके बाद डिंपी से भी वो लड़ेगी। अनुपमा को भी बड़ा फैसला लेन होगा...

Anupamaa 19 Nov: बा-बापूजी या छोटी अनु, किसे चुनेगी अनुपमा? पाखी की अधिक-डिंपी से होगी तीखी बहस
Avinash Singh Pal लाइव हिन्दुस्तान, मुंबईSun, 19 Nov 2023 08:49 AM
हमें फॉलो करें

Anupama Aaj ka Pura Episode: अनुपमा के आज के एपिसोड की शुरुआत होगी और देखने को मिलेगा कि बरखा और मालती देवी मिलकर न सिर्फ शाह हाउस के लोगों बल्कि अनुपमा की बुराई कर रहे होंगे। दोनों, तोषू-किंजल के लंदन जाने को गलत बताएंगे और अनुपमा पर तीखे वार करेंगी। तभी अनुज आएगा और दोनों को सुना देगा। इसके बाद दोनों अपना बचाव करती दिखेंगी। तभी वहां पर छोटी अनु आएगी और कहेगी कि पापा मुझे अच्छा महसूस नहीं हो रहा है। जानें आज के एपिसोड में आगे क्या होगा...

किचन में काम करती दिखेगी अनुपमा
अनुज चेक करेगा तो पता लगेगा कि छोटी अनु को बुखार है। छोटी अनु, बार बार अनुपमा को बुलाने की जिद करेगी और अनुज कहेगा कि वो बुला रहा है मम्मी को। दूसरी ओर अनुपमा, शाह हाउस की किचन में काम करती दिखेगी। किचन में काम करने के साथ ही साथ अनुपमा, फोन पर ऑफिस भी मैनेज करने की कोशिश करेगी। ऐसे में दिखेगा कि अनुपमा, काफी फंसी सी है लेकिन सभी काम बखूबी करती दिखेगी। 

छोटी अनु के पेट में इन्फेक्शन!
अनुज, अनुपमा को फोन करेगा और कहेगा कि छोटी को बहुत तेज बुखार है, जल्दी घर आ जा। बापूजी, अनुपमा को कहेंगे कि तुरंत घर जा और यहां का सब कुछ वो देख लेंगे। छोटी अनु, अनुपमा को याद कर रोती दिखेगी और घर पहुंचते ही गले लगा लेगी। अनुज कहेगा कि शायद छोटी अनु को पेट में इन्फेक्शन है और अगर बुखार नहीं उतरा तो कल सारे टेस्ट करवाने होंगे। अनुज भी इस मौके पर छोटी अनु को समझाएगा। दूसरी ओर दिखेगा कि किचन में बापूजी काम करते दिखेंगे और काव्या उन्हें देख लेगी और मदद की बात कहेगी। लेकिन बापूजी मना कर देंगे।

शाह हाउस का प्रॉब्लम
अनुपमा, अनुज को कहेगी, 'तोषू-किंजल चले गए हैं, काव्या प्रेग्नेंट है.. ऐसे में बापूजी अकेले सब कैसे मैनेज करेंगे?' इस पर मालती देवी, डिंपी को वापस घर भेजने की बात कहेगी तो अनुपमा कहेगी कि वो प्रेग्नेंट है और उसका इवेंट भी है, तो वो कैसे सब मैनेज करेगी। इतने में अधिक, पाखी को जाने को कहेगा और ये सुनकर उसके चेहरे का रंग उड़ जाएगा। अनुपमा भी पाखी के जाने पर सहमत हो जाएगी। अनुपमा कहेगी कि खाना मैं भिजवा दूंगी, सिर्फ बा-बापूज के साथ रहना है, चाय कॉफी देख लेना और दवाइयां।

पाखी का फिर बड़बोलापन
अनुज भी अनुपमा की बात में सहमति जताएगा लेकिन पाखी तपाक से मना कर देगी और कहेगी कि उस घर की बहू मैं हूं या डिंपी। इस पर अनुपमा कहेगी- 'गलती हो गई, जो उम्मीद कर ली।' इस पर अधिक कहेगा, 'तुम दिनभर करती क्या हो?' इसके बाद अधिक-पाखी के बीच बहस देखने को मिलेगी। पाखी बार बार डिंपी को गलत साबित करने की कोशिश करेगी। पाखी आखिर में कहेगी- 'मैं जा रही हूं लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि मैं वहां मम्मी की तरह मेड बनकर रहूंगी।' इस पर अनुज, पाखी को ही सुना देगा लेकिन पाखी अनुज को भी उलटा जवाब दे देगी।

पाखी-डिंपी में तीखी बहस, बापूजी का चढ़ा पारा
पाखी, शाह हाउस जाएगी लेकिन मदद करने की जगह वो सोफे पर बैठकर हेडफोन्स लगाकर म्यूजिक सुनेगी और काव्या के कई बार बुलाने पर भी नहीं सुनेगी। इसके बाद किचन में दूध उबलने वाला होगा, जिसे डिंपी बंद करेगी और फिर पाखी के पास आकर उसके हेडफोन्स खींच देगी। इसके बाद डिंपी-पाखी के बीच बहस होगी। डिंपी कहेगी- 'पहले तुम्हारे लिए बुरा लगता था कि तुम मां नहीं बन सकती, लेकिन अब लगता है कि तुम्हें भगवान सजा दे रहा है।' इस पर पाखी भी तपाक से कहेगी- 'इस लॉजिक से जो तुम्हारे साथ हुआ, वो तुम डिजर्व करती थीं।' यानी समर की मौत। ये सुनकर बापूजी चिल्ला पड़ेंगे और डिंपी से कहेंगे कि क्यों इसके मुंह लग रही हो, इसके बाद दिमाग नहीं। बापूजी, पाखी को भी सुनाएंगे। इसके बाद बापूजी, पाखी को घर से निकलने के लिए कहेंगे। इस पर पाखी घर से चली जाएगी।

धर्म संकट में अनुपमा
दूसरी ओर देखने को मिलेगा कि बा को बाथरूम जाना होगा और काव्या-डिंपी के बिजी होने की वजह से बापूजी खुद मदद करेंगे। लेकिन पैर फंसने की वजह से गिर पड़ेंगे। बा-बापूजी दोनों गिर पड़ेंगे और बा बार-बार काव्या-डिंपी को बुलाएंगे। दोनों को चोट लगी होगी और रोएंगे। इस बीच पाखी, घर आ जाएगी और अनुपमा से कहेगी कि मुझे बापूजी ने निकाल दिया और पूरा ठीकरा डिंपी पर फोड़ देगी। लेकिन अनुपमा कहेगी मुझे नहीं सुनना।  वहीं काव्या-डिंपी को बा-बापूजी की आवाज नहीं सुनेगी और उस बीच बापूजी के पास अनुपमा का फोन आएगा। आखिरकार बापूजी, अनुपमा को फोन करेंगे और कहेंगे कि यहां आ अनु। वहीं छोटी अनु भी अनुपमा को गले लगा लेगी और कहेगी कि आप मुझे छोड़कर मत जाना। अनुपमा इस दौरान धर्म संकट में दिखेगी कि एक ओर बा-बापूजी होंगे और दूसरी ओर छोटी अनु।
 

ऐप पर पढ़ें