Hindi Newsएंटरटेनमेंट न्यूज़टीवीBR Chopra Mahabharat gajendra chauhan talks on mahabharat show how ruling government then objected in few scenes

‘महाभारत’ के इस एक सीन पर तत्कालीन सरकार ने जताई थी आपत्ति, बीआर चोपड़ा ने कोर्ट से मांगी थी मदद और फिर…

  • B.R.Chopra Mahabharat: ‘महाभारत’ के एक सीन पर बवाल हुआ था। आइए आपको उस सीन के बारे में बताते हैं।

BR Chopra Mahabharat
Vartika Tolani लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीWed, 5 June 2024 11:11 AM
हमें फॉलो करें

बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ लगभग सभी लोगों ने देखी है, लेकिन क्या आपको पता है इस ‘महाभारत’ के लिए बीआर चोपड़ा को सरकार से लड़ना पड़ा था? नहीं! चलिए हम आपको ये मजेदार किस्सा बताते हैं। दरअसल, ‘महाभारत’ के एक सीन और डायलॉग पर उस दौर की सरकार को आपत्ति थी। सरकार ने इस सीन और डायलॉग को हटाने की मांग रखी थी, लेकिन बीआर चोपड़ा नहीं मानें और दोनों के बीच बात इतनी बढ़ गई कि कानूनी रास्ता अपनाना पड़ा था।

किस डायलॉग पर थी सरकार को आपत्ति? 

बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ में युधिष्ठिर की भूमिका को अमर कर देने वाले अभिनेता गजेंद्र चौहान ने आजतक को दिए इंटरव्यू में यह किस्सा सुनाया था। गजेंद्र ने याद करते हुए कहा था, ‘मुझे याद है सितंबर 1988 में ‘महाभारत’ की अनाउंसमेंट करने के लिए ताज होटल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी गई थी। 2 अक्टूबर को यह शो टीवी पर प्रसारित किया जाना था। टीवी पर प्रसारित करने से पहले इसका प्री-व्यू रखा गया। प्री-व्यू के दौरान राजा भरत का एक सीन दिखाया गया जिसमें वह बोलते हैं कि ‘राजा योग्यता के आधार पर बनाया जाना चाहिए न कि वंशवाद के आधार पर।’ मौजूदा सरकार को यह डायलॉग पसंद नहीं आया और उन्होंने इस डायलॉग को शो से हटाने की मांग की।

इस सीन को भी हटाने की कि थी मांग

गजेंद्र ने आगे बताया था, ‘महाभारत की शुरुआत समय के पहिये जैसे आइकॉनिक सीन से होती है। सरकार ने समय के पहिये पर भी आपत्ति जताई थी। उनका कहना था कि यह समय का पहिया ऑपोजिशन पार्टी (जनता दल) का बिना वजह प्रचार कर रहा है। सरकार ने इस पहिये को हटाने की डिमांड रखी, लेकिन बीआर चोपड़ा अपने शो में किसी भी तरह का बदलाव करना नहीं चाहते थे।’

जाना पड़ा कोर्ट

गजेंद्र ने अपना किस्सा खत्म करते हुए कहा था, ‘बीआर चोपड़ा ने सरकार की मांग मानने से इनकार कर दिया। वह इस बात पर अड़े रहे कि वह न डायलॉग बदलेंगे और न ही समय का पहिया हटाएंगे। सरकार उन्हें परेशान न करे इसलिए उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। उन्होंने कोर्ट के सामने अपनी बात रखी और 1 अक्टूबर की रात कोर्ट से क्लीयरेंस लिया। एक रात में सबकुछ हुआ और 2 अक्टूबर के दिन पहला एपिसोड प्रसारित हुआ।’

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें