Hindi Newsमनोरंजन न्यूज़टीवीactor shreyash talpade tells how his priorities changed after heart attack ask people to take life easy

हार्टअटैक के बाद श्रेयश तलपड़े के मन में बैठा मौत का डर, बोले- लंबी उम्र जीना है तो…

  • Shreyash Talpade Heartattack: हार्ट अटैक के बाद श्रेयश अपनी वाइफ को मेंटल ट्रॉमा से बाहर लाने में मदद कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अगर लंबी उम्र जीना चाहते हैं तो क्या करना चाहिए।

Kajal Sharma लाइव हिन्दुस्तानThu, 29 Feb 2024 01:51 PM
हमें फॉलो करें

एक्टर श्रेयश तलपड़े को बीते साल दिसंबर में बड़ा हार्ट अटैक पड़ा था। एक मीडिया हाउस से बातचीत में उन्होंने बताया कि पूरी तरह रिकवर होने में उन्हें अभी 4 से 6 महीने और लगेंगे। श्रेयश काम पर वापस लौट चुके हैं। वह मराठी फिल्म Hee Anokhi Ghat से बड़े पर्दे पर वापसी कर रहे हैं। दिल का दौरा पड़ने के बाद श्रेय की जिंदगी की प्राथमिकताएं बदल गई हैं। उन्होंने सबक लिया है कि अगर लंबी उम्र तक जीना है तो क्या करना चाहिए।

काम के पीछे भाग रहे थे श्रेयश

श्रेयश तलपड़े को जिंदगी ने दूसरा मौका दिया है। वह इसकी कीमत अच्छी तरह समझ गए हैं। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में श्रेयश ने बताया कि अब काम उनकी प्रायॉरिटी लिस्ट में पीछे हो चुका है। श्रेयश बताते हैं, 14 दिसंबर तक मैं काम के लिए जुनूनी आदमी था। 30 साल से ज्यादा वक्त तक मैं बिना रुके काम कर रहा था। हम कहते रहते हैं कि हमें परिवार के साथ अच्छा वक्त बिताना चाहिए लेकिन ऐसा होता नहीं है। आपकी प्राथमिकता काम होती है और आप इसके पीछे भागते रहते हैं।

बदल गई जिंदगी

श्रेयश बोले, हार्ट अटैक के बाद जाहिर सी बात है प्राथमिकताएं बदल गईं। अब मेरी प्रायॉरिटी परिवार, मेरी हेल्थ और फिर काम है। इसलिए मुझे लगता है कि अगर आपको यहां लंबे वक्त तक रहना है तो आराम से चलना होगा। यह कछुए और खरगोश की कहानी की तरह है। आप भागिए नहीं क्योंकि आपके इर्द-गिर्द कई जरूरी चीजें हो रही हैं। खासतौर पर आपका परिवार, आपके बच्चे बड़े हो रहे हैं।

ट्रॉमा में है वाइफ

श्रेयश ने बताया कि जब वह अस्पताल में पड़े थे तो उनका परिवार ट्रॉमा से गुजर रहा था। उस वक्त उन्हें लगा कि यह दूसरा मौका है जो हर किसी को नहीं मिलता। अब वह अपनी सेहत का पहले से ज्यादा बेहतर खयाल रखते हैं। मुझे लगता था कि मैं ध्यान रखता हूं लेकिन उतना पर्याप्त नहीं था।

एक सेकंड में चली जाती जान

श्रेयश बताते है, मैं फिजिकली रिकवर हो रहा हूं लेकिन अपनी पत्नी को मेंटल ट्रॉमा से बाहर निकालने के लिए उसके साथ होना जरूरी है। कुछ वक्त लगेगा। उन्होंने लोगों को मैसेज दिया, प्लीज अपनी हेल्थ को हल्के में न लगें क्योंकि ये ठीक नहीं है। मुझे मरने में एक सेकंड लगता। उस वक्त मैं कुछ नहीं कर सकता था।

ऐप पर पढ़ें