फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मनोरंजनदर्शन कुमार ने सुनाई अपने स्ट्रगल की कहानी, कहानी ऐसी कि पसीज उठेगा दिल

दर्शन कुमार ने सुनाई अपने स्ट्रगल की कहानी, कहानी ऐसी कि पसीज उठेगा दिल

दर्शन कुमार ने बताया कि वह ऑडीशन देने के लिए पैदल ही जाया करते थे क्योंकि उनके पास बस का किराया नहीं होता था। बस के किराए का पैसा बचाकर मैं पार्लेजी बिस्कुट खरीदा करता था।

दर्शन कुमार ने सुनाई अपने स्ट्रगल की कहानी, कहानी ऐसी कि पसीज उठेगा दिल
Puneet Parasharटीम लाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीMon, 28 Mar 2022 06:21 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

'द कश्मीर फाइल्स' में अहम किरदार निभा चुके एक्टर दर्शन कुमार को जमकर तारीफें मिल रही हैं। इससे पहले दर्शन कुमार ने टीवी शोज से लेकर वेब सीरीज और कई फिल्मों तक में काम किया है लेकिन उन्हें वो पहचान नहीं मिली जिसके लिए वह लगातार कड़ी मेहनत कर रहे थे। दर्शन कुमार को वो पहचान दिलाई है विवेक अग्निहोत्री की फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' ने। अब इस कामयाबी के बाद दर्शन कुमार ने अपने इस स्ट्रगल के बारे में बताया है जिसके बाद आज वह इस मुकाम तक पहुंचे हैं।

कई किलोमीटर दूर होता था ऑडीशन
सिद्धार्थ कनन के साथ बातचीत में दर्शन कुमार ने बताया, 'मेरे लिए ये किसी रोलर कोस्टर राइड जैसा रहा है। इस बारे में सोचकर मैं हमेशा भावुक हो जाता हूं, शुरू से लेकर अभी तक मेरे लिए ये बहुत मुश्किल वक्त रहा है। हमें ऑडीशन के लिए मुंबई पार करके बहुत दूर जाना पड़ता था। इसके लिए भी हमें फॉर्मल कपड़ों में पहुंचना होता था, और मैं अच्छे जूते नहीं खरीद सकता था तो मैंने अंधेरी से 200-300 रुपये के जूते खरीदे थे।'

पानी में डुबोकर खा लेता था बिस्कुट
दर्शन कुमार ने बताया कि वह ऑडीशन देने के लिए पैदल ही जाया करते थे क्योंकि उनके पास बस का किराया नहीं होता था। बस के किराए का पैसा बचाकर मैं पार्लेजी बिस्कुट खरीदा करता था। अगर एक कप चाय मिल गई तो ठीक वरना मैं पानी के साथ वो बिस्कुट खा लिया करता था, क्योंकि मुझे पूरा दिन काटना होता था। एक बार मैं रात के 9-10 बजे पैदल घर लौट रहा था जब मेरे जूते का तला उखड़ गया।'

जूता टूट गया तो 7 किलोमीटर नंगे पैर चले
दर्शन कुमार ने बताया कि वह उसे पहनकर चल नहीं पा रहे थे और किसी तरह लंगड़ा कर चल रहे थे। आसपास कहीं पर मोची नहीं मिला तो मैंने जूते हाथ में उठा और तकरीबन 5-7 किलोमीटर तक नंगे पैर ही चला। दर्शन ने बताया कि कई रातें होती थीं जब उन्हें भूखे पेट सोना पड़ता था, क्योंकि उनके पास बाहर खाने के पैसे नहीं होते थे। दर्शन ने बताया कि मैरी कॉम में काम करने के बाद उन्हें बहुत प्यार मिला लेकिन तब भी उनके पास पैसे नहीं था। मालूम हो कि दर्शन कुमार NH10, Aashram, The Family Man और Sarbjit जैसे प्रोजेक्ट्स में काम कर चुके हैं।

epaper