Hindi NewsEntertainment NewsSupreme Court will Hear Plea Against Release Of The Kerala Story and ban in west bengal tamil nadu

'द केरल स्टोरी' यूं ही चलती रहेगी या आएगा कुछ ट्विस्ट, सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई

'द केरल स्टोरी' बॉक्स ऑफिस पर अच्छी-खासी कमाई कर रही हैं। इसी बीच मंगलवार को फिल्म के रिलीज के खिलाफ वाली याचिका और बुधवार को फिल्म पर लगाए गए बैन पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होने वाली है।

'द केरल स्टोरी' यूं ही चलती रहेगी या आएगा कुछ ट्विस्ट, सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई
Vartika Tolani लाइव हिंदुस्तान, नई दिल्लीTue, 16 May 2023 09:04 AM
हमें फॉलो करें

'द केरल स्टोरी' फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने से इनकार करने के केरल हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनवाई करेगा। यह फिल्म 5 मई को रिलीज हुई है, लेकिन इसके बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने इसकी स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी थी, जबकि तमिलनाडु के थिएटरों ने इस फिल्म को चलाने से इनकार कर दिया है। दो राज्यों में बैन के खिलाफ 'द केरल स्टोरी' के निर्माता सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा चुके हैं, जिस पर बुधवार को सुनवाई होनी है। इस मामले में पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु से बुधवार तक जवाब दाखिल करने के लिए कहा गया था।

तमिलनाडु सरकार ने इसका जवाब दे दिया है और दाखिल हलफनामे में कहा है कि राज्य में थिएटरों द्वारा फिल्म की स्क्रीनिंग न किए जाने से सरकार का कोई लेना-देना नहीं है। राज्य सरकार के जवाब में कहा गया है कि फिल्म देखने के लिए दर्शक नहीं आ रहे थे इसलिए फिल्म थिएटरों से हटा ली गई। यह भी कहा गया कि याचिकाकर्ता पब्लिसिटी पाना चाहते हैं और उनके पास इस बात के कोई सबूत नहीं हैं कि थिएटर मालिकों के फैसले के पीछे राज्य सरकार है। तमिलनाडु में 7 मई से फील्म की स्क्रीनिंग रोक दी गई थी।

आज जिस मामले की सुनवाई होनी है वह पत्रकार कुर्बान अली द्वारा दायर की गई है। उनके वकील और वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने अपील का सोमवार को न्यायालय में उल्लेख किया। चीफ जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस पी एस नरसिम्हा और जस्टिस जे बी पारदीवाला की बेंच सुनवाई करने के लिए  तैयार हो गई, लेकिन बाद में कहा कि सोमवार को दोपहर तीन बजे एक विशेष बेंच के समक्ष कुछ विषयों की सुनवाई निर्धारित रहने के चलते इसे 16 मई को लिया जाएगा। कपिल सिब्बल ने दलील दी कि इसपर तत्काल सुनवाई करने की आवश्यकता है क्योंकि हाई कोर्ट ने पांच मई को फिल्म की रिलीज पर अंतरिम रोक लगाने से मना कर दिया था।

केरल हाई कोर्ट के जजों ने फिल्म का टीजर देखे जाने के बाद आदेश जारी किया था। कई याचिकाओं के जरिए फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने का शीर्ष न्यायालय से अनुरोध किया गया है और केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) द्वारा दिए गए प्रमाणन पर भी आपत्ति जताई गई है। अली ने अपनी याचिका में कहा है कि फिल्म नफरत भरे बयान के समान है क्योंकि इसमें दावा किया गया है कि केरल की करीब 32,000 युवतियों को उनके मुस्लिम मित्रों द्वारा आईएसआईएस में शामिल होने के लिए प्रलोभन दिया गया। सुप्रीम कोर्ट ने 3 मई को फिल्म से जुड़ीं याचिकाओं पर विचार करने से इनकार कर दिया था और याचिकाकर्ताओं से इसका क्षेत्राधिकार रखने वाले हाई कोर्ट का रुख करने को कहा था।  याचिका में यह अनुरोध किया गया है कि फिल्म की शुरुआत में  डिस्क्लेमर जोड़ा जाए कि यह काल्पनिक घटनाओं पर आधारित है।

लेटेस्ट Hindi News, Entertainment News के साथ-साथ TV News, Web Series और Movie Review पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।
ऐप पर पढ़ें