अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'नानक शाह फकीर' की रिलीज पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने किया इनकार, निर्माता सिख धर्म से निष्‍कासित

nanak

विवादास्पद फिल्म 'नानक शाह फकीर' के रिलीज होने के लिए तैयार है। सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म को रिलीज होने के लिए हरी झंडी दे दी है। सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म 'नानक शाह फकीर' की रिलीज पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। इस फैसले के बाद से फिल्म के निर्माता हरिंदर सिंह सिक्का को पांचों तख्तों के जत्थेदारों ने सामूहिक रूप से सिख कौम से निष्कासित कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में कहा है कि फिल्म सिख धर्म के प्रथम गुरु नानक देव जी के जीवन पर आधारित है। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि संविधान फिल्म निर्माताओं को धर्मनिरपेक्षता के मूल्यों से टकराए बिना फिल्म बनाने की सुरक्षा देता है। शीर्ष अदालत ने बीते सप्ताह राज्यों को फिल्म की निर्बाध रिलीज सुनिश्चित करने का आदेश दिया था।

ये है मूवी का ट्रेलर...

इस आदेश में हस्तक्षेप से इनकार करते हुए प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर व न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने कहा, 'जब तक फिल्म सिख धर्म को नीचा नहीं दिखाती और इसका मकसद सिर्फ गुरु नानक देव की महिमा बताना है, (तब तक) हम (रिलीज के आदेश में) हस्तक्षेप नहीं करेंगे।

दालत का यह आदेश शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) की एक याचिका पर आया है, जिसमें दलील दी गई किसी भी व्यक्ति द्वारा सिख गुरुओं, उनके तत्कालीन परिवार के सदस्यों व पंच प्यारे का कोई चित्रण नहीं किया जा सकता। सिख संस्था की तरफ से पेश वरिष्ठ वकील पीएस पटवालिया ने 2003 के एसजीपीसी के प्रस्ताव का जिक्र किया और दोहराया कि किसी भी जीवित व्यक्ति द्वारा सिख गुरुओं का चित्रण नहीं किया जा सकता है।

बता दें कि फिल्म में गुरु नानक साहिब, बेबे नानकी, माता सुलखनी व भाई मरदाना का रोल कलाकार अदा कर रहे हैं। इसको लेकर ही सिख संगतों का विरोध कर रहे हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:supreme court refused to stay release of film nanak shah fakir