DA Image
30 जुलाई, 2020|2:46|IST

अगली स्टोरी

सूरज पंचोली ने कहा- अगर नेपोटिज्म होता तो मैं अभी अपनी 10वीं फिल्म कर रहा होता

बॉलीवुड अभिनेता सूरज पंचोली फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म को नहीं मानते हैं और उनका कहना है कि यदि नेपोटिजम होता तो वह अपनी 10वीं फिल्म कर रहे होते। सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद से नेपोटिज्म की बहस में सूरज पंचोली को जमकर ट्रोल किया जा रहा है। इस बारे में बात करते हुए सूरज पंचोली ने बताया, कि 'यदि यहां सब कुछ नेपोटिज्म से ही होता तो मैं अभी अपनी 10वीं फिल्म कर रहा होता।

उन्होंने आगे कहा, ''अभी जो भी कुछ हुआ है, उसका नेपोटिज्म से कोई मतलब नहीं है। मैंने बहुत कम उम्र में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम शुरू कर दिया था। पहले 2010 में फिल्म गुजारिश में फिर 2012 में एक था टाइगर में। यहीं मैं सलमान सर से मिला था और उन्होंने मुझे वादा किया कि वह किसी फिल्म में मुझे कास्ट करेंगे क्योंकि उन्होंने मुझमें पोटैंशल देखा। उन्होंने मुझसे पूछा भी था कि क्या में एक्टर बनना चाहता हूं। मैंने इसके लिए बहुत मेहनत की है।''

सरोज खान की बेटी सुकैना ने बताया, कफन के पैसे भी खुद देकर चली गईं मां!
    
सूरज पंचोली ने कहा कि स्टार किड्स को भी ऑडिशंस देने पड़ते हैं। मैंने पहली बार साल 2013 में फिल्म 'काई पो छे' के लिए ऑडिशन दिया था और मुझे रिजेक्ट कर दिया गया था। इसके बाद मैंने खुद पर काफी मेहनत की। फिर मैंने 2015 में 'हीरो' के लिए ऑडिशन दिया। यहां तक कि अपनी आने वाली फिल्म 'हवा सिंह' के लिए भी मुझे ऑडिशन देना पड़ा। मेरी मां इस समय 60 साल की हैं और पिछले 30 सालों से इस इंडस्ट्री में हैं। वह अभी भी फिल्मों के लिए ऑडिशन देती हैं। यह केवल सोच है कि स्टार किड्स को ऑडिशन नहीं देने पड़ते हैं।

उर्वशी रौतेला ने बताया आखिर क्यों नहीं है उनका बॉयफ्रेंड, पोस्ट शेयर कर खोला दिलचस्प राज

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sooraj Pancholi says If it was all about nepotism I would have been on my 10th film by now