DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   मनोरंजन  ›  Game Over Movie Review: हॉरर-सस्पेंस और थ्रिलर से भरपूर है तापसी पन्नू की फिल्म 'गेम ओवर'

मनोरंजनGame Over Movie Review: हॉरर-सस्पेंस और थ्रिलर से भरपूर है तापसी पन्नू की फिल्म 'गेम ओवर'

सुष्मिता सेमवाल,नई दिल्लीPublished By: Sushmeeta
Fri, 14 Jun 2019 06:55 AM
Game Over Movie Review: हॉरर-सस्पेंस और थ्रिलर से भरपूर है तापसी पन्नू की फिल्म 'गेम ओवर'

फिल्म: गेम ओवर

डायरेक्टर: अश्विन सरवनन

कलाकार: तापसी पन्नू

फिल्म 'गेम ओवर' का पहला सीन ही आपके रोंगटे खड़े कर देगा। 27 साल की शहरी लड़की का बेहद भयानक तरीके से कत्ल कर दिया जाता है और फिर उसके सिर को काटकर उछाल देता है। कातिल उतने पर ही नहीं रुकता वो फिर लड़की के शरीर पर आग लगा देता है। तापसी पन्नू फिल्म में एक वीडियो गेम डिजाइनर का किरदार निभाती नजर आई हैं जो अपने अतीत से बाहर आने की कोशिश कर रही हैं। साथ ही खुद एक वीडियो गेम एडिक्टर होती हैं। यह एक साइकॉलिजिकल थ्रिलर है जिसे बेहद ही अलग तरीके से एंड किया जाता है।

कहानी

तापसी(सपना) अपनी हाउस मेड कलाअम्मा (विनोदिनी) के साथ अकेली रहती हैं। सपना एक मानसिक बीमारी से जूझ रही होती हैं। जिस वजह से अतीत में उनके साथ हुए हादसे की तारीख पास आने पर उसका दम घुटने लगता है और उन्हें जबरदस्त पैनिक अटैक आते हैं। कहानी में एक भयानक मोड़ तब आता है जब सपना को पता चलता है कि उन्होंने जो अपने हाथ पर टैटू बनाया है वो कोई आम टैटू नहीं बल्कि मेमोरियल टैटू है। इस टैटू की स्याही में किसी मरे हुए की अस्थियों की राख मिलाई जाती है। ये टैटू लोग अपने करीबी को हमेशा अपने पास रखने के लिए बनवाते हैं। 

इसके बाद तापसी को फिर पता चलता है कि उनके टैटू में जिसकी राख है वो उसी 27 साल की लड़की की राख है जिसका मर्डर कर दिया जाता है। अब इसके बाद क्या होता है इसके लिए तो आपको फिल्म देखनी होगी। हालांकि आगे हर सीन को देखते हुए आपसी सांसे जरूर थम जाएगी।

वैसे बता दें कि बॉलिवुड में थ्रिलर और सुपरनैचरल पावर पर बनी फिल्मों को लेकर फैन्स में क्रेज रहता है। हालांकि ये फिल्म उन फिल्मों से अलग है क्योंकि इसमें थ्रिलर और सुपर नैचरल लेयर के साथ गेम का इंट्रेस्टिंग एंगल है। 

 एक्टिंग

फिल्म में तापसी और विनोदिनी ने काफी अच्छी एक्टिंग की है। तापसी ने हर सीन पर जबरदस्त एक्सप्रेशन दिए हैं। तापसी ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वो हर किरदार को बखूबी निभा सकती हैं। 

क्यों देखें
अगर आपको थ्रिलर और हॉरर फिल्म देखना पसंद है तो ये फिल्म आपके लिए परफेक्ट है। इसमें आपको दोनों का मिक्सचर दिखेगा। फिल्म में सस्पेंस बड़ा जबरदस्त है जिस वजह से आपका ध्यान फिल्म से कभी हटेगा या नहीं।

कहां चूके

फिल्म में कुछ सीन्स ऐसे आते हैं जहां आपको थोड़ा कन्फ्यूजन होगा कि ये कैसे हो गया। आपके मन में कई सवाल आएंगे, हालांकि पूरी फिल्म को देखने के बाद आप इन बातों को भूल कर सिर्फ फिल्म की तारीफ ही करेंगे।

डायरेक्शन

तमिल हॉरर फिल्म 'माया' और 'इरावकालम' को डायरेक्ट कर चुके अश्विन सरवनन ने काफी अच्छा डायरेक्शन किया है। उनकी फिल्म देखकर आप उनके डायरेक्शन के फैन हो जाएंगे।

रेटिंग: 3

संबंधित खबरें