DA Image
हिंदी न्यूज़ › मनोरंजन › फरहान-अभिषेक के मना करने के बाद ‘रंग दे बसंती’ के लिए ऋतिक रोशन को मनाने घर तक पहुंच गए थे आमिर खान
मनोरंजन

फरहान-अभिषेक के मना करने के बाद ‘रंग दे बसंती’ के लिए ऋतिक रोशन को मनाने घर तक पहुंच गए थे आमिर खान

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Radha Sharma
Wed, 04 Aug 2021 08:22 AM
फरहान-अभिषेक के मना करने के बाद ‘रंग दे बसंती’ के लिए ऋतिक रोशन को मनाने घर तक पहुंच गए थे आमिर खान

फिल्म मेकर राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने खुलासा किया कि आमिर खान ने बॉलीवुड की एपिक फिल्म ‘रंग दे बसंती’ (Rang De Basanti) में ऋतिक रोशन को करण सिंघानिया की भूमिका निभाने के लिए उन्हें खूब मनाने का प्रयास किया था, लेकिन ऋतिक फिर नहीं मानें और फिल्म रिजेक्ट कर दिया। फिल्म में इस रोल को बाद में तमिल अभिनेता सिद्धार्थ ने निभाकर दर्शकों के दिलों दिमाग पर छा गये थे। 

करण सिंघानिया के रोल के लिए डायरेक्टर इन्हें किया था अप्रोच

डायरेक्टर राकेश ओमप्रकाश मेहरा (Rakeysh Omprakash Mehra) इन दिनों अपनी अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘द स्ट्रेंजर इन द मिरर’ को लेकर चर्चा में हैं। इस किताब में उन्होंने अपने बॉलीवुड करियर और पर्सनल लाइफ से और अन्य कई सारी बातों से जुड़े कुछ खास चीजों का जिक्र किया है। इस किताब में राकेश ने फिल्म ‘रंग दे बसंती’ के दौरान आने वाली चुनौतियों के बारें में भी बताया है। इस चुनौती में उनमें से एक में करण सिंघानिया की कास्टिंग भी शामिल थी। निर्देशक ने खुलासा किया कि उन्होंने इस रोल को लिए फरहान अख्तर, अभिषेक बच्चन और ऋतिक रोशन सहित कुछ लोगों से संपर्क किया था।

फरहान और अभिषेक ने ठुकरा दिया था ऑफर

News18 की रिपोर्ट के मुताबिक, इस किताब में राकेश ने बताया है कि करण सिंघानिया की भूमिका निभाने से कई बड़े स्टार्स ने इंकार कर दिया। मैंने पहली बार फरहान अख्तर को इसका ऑफर दिया। यह एक ऐसा समय था जब उन्होंने पहले कभी किसी फिल्म में अभिनय नहीं किया था और सबसे सम्मानित युवा निर्देशकों में से एक थे। लेकिन बात नहीं बन पाई। इसके बाद राकेश आगे बताते हैं कि जब मैंने अभिषेक बच्चन को सुनाया, तो उन्होंने ने भी दिलचस्पी नहीं दिखाई। 

 ऋतिक को मनाने उनके घर तक चले गये थे आमिर खान 

रिपोर्ट के अनुसार, राकेश ने आगे लिखा है कि जब उन्होंने आमिर खान से  ऋतिक रोशन से बात करने का अनुरोध किया तो आमिर ऋतिक के घर भी गए थे। आमिर ऋतिक से पर्सनली मिलकर कहा था, 'यह एक अच्छी फिल्म है-कर ले' (करो)। लेकिन ऋतिक से बात नहीं बन पाई।  अंत में, सिद्धार्थ ने शूटिंग से एक महीने पहले जनवरी 2005 में फिल्म करने को राजी हुए। इस फिल्म के जरिए सिद्धार्थ बॉलीवुड में कदम रखा था। 

संबंधित खबरें