DA Image
11 जुलाई, 2020|7:52|IST

अगली स्टोरी

पंकज त्रिपाठी ने शेयर किया संघर्ष के दिनों का किस्सा, कहा- मेरे रेफरेंस का कोई नहीं और न किसी को जानता था

 pankaj tripathi

बॉलीवुड के जाने-माने अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने अपने संघर्ष के दिनों की एक मजेदार कहानी साझा की है, जब वह खूब सारे ऑडिशन दिया करते थे।

पंकज दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से ग्रेजुएट हैं। संघर्ष के दिनों में पंकज कई कॉस्टिंग ऑफिस में ऑडिशन के लिए अपने फोटो सहित चले जाते थे और जब उनसे रेफरेंस के बारे में पूछा जाता था, तब वह 'ईश्वर जी' का नाम लेते थे।

पंकज ने कहा, “ईश्वर ही हर एक चीज के निमार्ता हैं। मेरे रेफरेंस (जान-पहचान) का कोई नहीं था और मैं किसी को जानता तक नहीं था। कुछ असफलताओं के हाथ लगने के बाद मैंने महसूस किया कि आगे जाक रेफरेंस का सत्यापन कोई नहीं करता। यह महज एक औपचारिकता है, जिस पर लोग काफी लंबे समय से आश्रित रहे हैं। मैंने ईश्वर का नाम लेने का फैसला किया और ताज्जुब की बात तो यह है कि मुझे किरदार मिलने लगे!”

जब भाग्यश्री को बेटे अभिमन्यू के सामने यश चोपड़ा ने कहा था ‘बेवकूफ लड़की’, सामने आई चौंकाने वाली वजह

वाजिद खान के ममेरे भाई दानिश साबरी ने कहा- कहते थे कि जब चला जाऊंगा तब याद करोगे

पंकज आज भी इस बात को मानते हैं कि ईश्वर की वजह से ही वह इस इंडस्ट्री में आए हैं। उन्होंने आगे कहा, “यह कई साल पहले की बात है, जब मैं लोगों की नजर में नहीं आया था, लेकिन उस वक्त तक मैं कुछेक यादगार दृश्यों को फिल्मा चुका था। मैं आज भी इस बात को मानता हूं कि ईश्वर की वजह से ही मुझे इस इंडस्ट्री में पहचान मिली है। फिल्मी दुनिया में दूर-दूर तक मेरा कोई जानने वाला नहीं था, लेकिन दरवाजे मेरे लिए खुलते गए जैसे कि कुदरत इस चीज के लिए योजना रच रही हो।”

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Pankaj Tripathi: Shares Struggling Days Experience Says Noone Was There With Me And For me